संजीवनी टुडे

Pulwama Attack: NIA की चार्जशीट में चौकाने वाले खुलासे, आतंकियों ने रात के अंधेरे में ऐसे की थी सीमा पार

संजीवनी टुडे 26-08-2020 05:01:00

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने मंगलवार को पुलवामा हमले पर अपनी 13,500 से ज्यादा पन्‍नों की चार्जशीट दायर कर ली है।


जम्मू। पिछले साल फरवरी में हुए पुलवामा हमले ने पुरे देश देश की आंखें नम कर दी थी। इस हमले में देश के 40 सैनिकों की शहादत को देख हर कोई रो पड़ा था। हालांकि, अब पुलवामा हमले पर भारत ने पाकिस्तान की आतंकी कुंडली तैयार कर ली है। 

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने मंगलवार को पुलवामा हमले पर अपनी 13,500 से ज्यादा पन्‍नों की चार्जशीट दायर कर ली है। इस चार्जशीट में पाकिस्तान की आतंकी साजिश का पूरा कच्‍चा चिट्ठा है। चार्जशीट में पाकिस्तान में छिपे बैठे हमले के मास्टरमाइंड जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर समेत 20 को आरोपी बनाया गया है।

जम्मू स्थित NIA की विशेष अदालत में पहुंची टीम ने करीब 13,500 पन्नों की चार्जशीट दायर की है। एनआईए ने पुलवामा हमले में आत्मघाती हमलावर के कई साथियों को गिरफ्तार किया था, जिन्होंने पाकिस्तान में बैठे आकाओं के इशारे पर इस हमले को अंजाम देने में आतंकवादी आदिल अहमद डार की मदद की थी। 

जानकारी के मुताबिक, एनआईए की चार्जशीट में कहा गया है कि आरडीएक्स समेत अन्य विस्फोटक आतंकी पीठ पर पाकिस्तान से लाद कर लाए। इसके साथ ही बताया गया एक अन्य आरोपी इकबाल रादर ने इस हमले के पहले उमर फारूक नाम के एक आतंकी को रात के अंधेरे में सीमा पार करा कर घाटी में लाया था। NIA को इस बात के वीडियो सबूत भी मिल हैं, जिनमें अमावस्या यानी अंधेरी रात में घुसपैठ करने की रणनीति का जिक्र किया गया है। जांच एजेंसी को यह वीडियो उमर फारुक के फोन में मिला है। इस फोन के जरिए एजेंसी को पूरे प्लान के बारे में पता चला है कि जिसके जरिए आतंकी भारतीय सीमा में आए। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार एनआईए ने चार्जशीट में आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख मसूद अजहर और उसके भाई अब्दुल रऊफ असगर को आरोपी बनाया है। इसके अलावा चार्जशीट में मारे गए आतंकवादी मोहम्मद उमर फारूक, आत्मघाती हमलावर आदिल अहमद डार और पाकिस्तान से सक्रिय अन्य आतंकवादी कमांडर के नाम भी शामिल हैं। ये सभी नाम अब तक गिरफ्तार किए गए 6 आरोपियों के अलावा शामिल किए गए हैं।

NIA के एक अधिकारी ने बताया कि एजेंसी ने चार्जशीट में सभी आरोपियों के खिलाफ पर्याप्त सबूतों के साथ मजबूत केस बनाया है। इसमें उनकी चैट, कॉल डिटेल्स आदि शामिल हैं जो हमले में उनकी भूमिका की पुष्टि करते हैं।

यह खबर भी पढ़े: केरल सचिवालय में आग, कई फ़ाइलें जलकर खाक़, दस्तावेज और कंप्यूटर नष्ट

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended