संजीवनी टुडे

असम में नागरिकता कानून का विरोध, 16 दिसंबर तक इंटरनेट बंद, 18 को कर्मचारी हड़ताल पर

संजीवनी टुडे 15-12-2019 08:07:04

नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में असम, त्रिपुरा, नगालैंड समेत पूर्वोत्तर के कई राज्यों में विरोध-प्रदर्शन शनिवार (14 दिसंबर) को भी जारी रहा।


नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में असम, त्रिपुरा, नगालैंड समेत पूर्वोत्तर के कई राज्यों में विरोध-प्रदर्शन शनिवार (14 दिसंबर) को भी जारी रहा। प्रदर्शनकारियों ने हावड़ा-मुर्शिदाबाद में बसें, स्टेशन, दुकानें और टोल प्लाजा फूंक दी। असम में सोशल मीडिया के दुरुपयोग को रोकने के लिए 16 दिसंबर तक इंटरनेट सेवाएं ठप कर दी गई हैं। मुर्शिदाबाद जिले के कृष्णपुर स्टेशन पर भीड़ ने पांच खाली ट्रेनों को आग के हवाले कर दिया। लालगोला स्टेशन पर रेल पटरियों पर तोड़फोड़ की गई।  जिले के सुती में, प्रदर्शनकारियों ने तीन सरकारी बसों में तोड़-फोड़ की और यात्रियों को जबरन बस से उतारकर एक बस को आग लगा दी।

यह भी पढ़े: J&K के पूर्व मुख्यमंत्री फाहरुख अब्दुल्ला की हिरासत 3 महीनों के लिए और बढ़ी

पुलिस ने बताया कि सैकड़ों प्रदर्शनकारियों ने मुंबई और दिल्ली रोड को कोलकाता से जोड़ने वाले कोना एक्सप्रेसवे को जाम कर दिया और करीब 25 सार्वजनिक एवं निजी बसें फूंक दीं। मालदा और मुर्शिदाबाद में भी कई बसों को आग के हवाले कर दिया। मुर्शिदाबाद जिले में कुछ इलाकों में हालात अनियंत्रित होता देख पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। उपद्रवियों ने स्टेशन मास्टर के कमरे में तोड़फोड़ की व सिग्नल केबिन को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। बगनान इलाके में 20 दुकानें भी फूंक दीं।

यह भी पढ़े: राहुल गांधी ने कहा- मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं बल्कि राहुल गांधी है, मर जाऊंगा पर माफी नहीं मांगूंगा

सदोउ असम कर्मचारी परिषद के अध्यक्ष बासब कलिता ने बताया कि राज्य सरकार के सभी कर्मचारी 18 दिसंबर को कार्यालय नहीं जाएंगे।

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended