संजीवनी टुडे

प्रियंका को वाराणसी से खड़ा न करना कांग्रेस की नैतिक हार : अरुण जेटली

संजीवनी टुडे 25-04-2019 22:00:46


नई दिल्ली। वित्तमंत्री एवं वरिष्ठ भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) नेता अरुण जेटली ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के वाराणसी से चुनाव नहीं लड़ने को कांग्रेस की नैतिक हार बताया है। जेटली ने गुरुवार को ट्विटर पर वीडियो संदेश के माध्यम से कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अमेठी छोड़कर वायनाड में शरण ली है और उनकी बहन प्रियंका हार के डर से वाराणसी से भागकर कहीं ओर शरण ले रही हैं। इससे साफ होता है कि आम चुनावों का परिणाम किस दिशा में जा रहा है।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

ु

जेटली ने कहा कि काफी समय से वाराणसी से प्रियंका गांधी को चुनावी मैदान में उतारने की खबर आ रही थी। कांग्रेस ने आज वहां से एक ऐसे नाम की घोषणा की है जिसे कोई जानता भी नहीं है। वह चाहते थे कि इस सीट से प्रियंका चुनाव लड़े क्योंकि इससे साबित हो जाता की नए भारत की सोच क्या है। उन्होंने कहा कि नया भारत वंशवाद को नहीं मानता बल्कि काम करने वालों को स्वीकारता है। उन्होंने कहा कि प्रियंका का चुनाव न लड़ना कांग्रेस की हार स्वीकार करना दर्शाता है। आखिरी क्षणों में डर जाना और डरकर भाग जाना आज कांग्रेस नेतृत्व ने किया है। यह कांग्रेस की नैतिक को हार दर्शाता है। 

वाराणसी के विकास की तुलना अमेठी और रायबरेली से करें गांधी परिवार: अरुण जेटली अरुण जेटली ने एक अन्य संदेश में कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र का पिछले पांच सालों में भरपूर विकास किया है, जिसकी तुलना गांधी परिवार को अपने संसदीय क्षेत्रों अमेठी और रायबरेली से करनी चाहिए। अमेठी से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और रायबरेली से उनकी मां सोनिया गांधी चुनाव लड़ती हैं। जेटली ने कहा कि शुक्रवार को वाराणसी से नामांकन के एक दिन पूर्व वहां हुए रोड शो में लोगों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। पिछले पांच सालों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी का अप्रत्याशित विकास किया है। नया एयरपोर्ट दिया, रेवले स्टेशन को बदल दिया, घाटों का विकास किया, बिजली की नई व्यवस्था लाए और सड़कों का विकास किया। 

MUST WATCH &SUBSCRIBE 

उन्होंने कहा कि वाराणसी में पिछले पांच सालों में हुए विकास को देखते हुए गांधी परिवार को आत्मनिरिक्षण करना चाहिए। उन्हें स्वयं से पूछना चाहिए कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पांच सालों में वाराणसी में ऐसा क्या किया जो पिछले 40 सालों में गांधी परिवार अमेठी और रायबरेली में नहीं कर पाए। उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र से नामांकन करेंगे। इससे पहले उन्होंने वाराणसी में एक रोड शो किया और शाम को गंगा घाट पर होने वाली आरती में भाग लिया। वहीं गुरुवार सुबह को कांग्रेस ने वाराणसी से अपने उम्मीदवार के नाम की घोषणा कर दी। पहले इस सीट पर प्रियंका के लड़ने की बात सामने आ रही थी लेकिन कांग्रेस ने अजय राय को टिकट दिया है। 

More From national

Loading...
Trending Now
Recommended