संजीवनी टुडे

पीएम मोदी ने की सासाराम, गया और भागलपुर में एनडीए प्रत्याशियों के पक्ष में चुनावी जनसभा

संजीवनी टुडे 23-10-2020 20:46:17

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अपना अंदाज है। जहां भी जाते हैं वहां की संस्कृति, वहां की बोली, वहां की तहजीब को अपने अंदाज में उतार लेते हैं।


पटना। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अपना अंदाज है। जहां भी जाते हैं वहां की संस्कृति, वहां की बोली, वहां की तहजीब को अपने अंदाज में उतार लेते हैं। शुक्रवार को बिहार की चुनावी सभा में भी उनका यह अंदाज दिखा। बिहार में का बा का जवाब उन्होंने उसी अंदाज में दिया। कहा, भारत के दिल बाटे बिहार, भारत के सम्मान बा बिहार। भारत के स्वाभिमान बा बिहार। भारत के संस्कार बा बिहार। आजादी के जयघोष बा बिहार। संपूर्ण क्रांति के शंखनाद बा बिहार। आत्मनिर्भर भारत के परचम बा बिहार। देश के सुरक्षा हो या देश के विकास, बिहार के लोगन सबसे आगे रहलन। बिहार के सपूत गलवान घाटी में शहीद हो गइले लेकिन भारत माता के माथा ना झूके देलन। हम उनके चरण में शीष झुकाव तानी। बिहार विकास की ओर तेजी से बढ़त बा। बिहार के कोई बीमारू बेबस राज्य नहीं कह सकत। लालटेन के जमाना गईल। पिछले 6 सालन में बिजली के खपत तीन गुणा बढ़ गईल बाटे।

प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को सासाराम, गया और भागलपुर की सभा में लालू-राबड़ी के जंगलराज के दहशत की याद लोगों को दिलाते हुए कहा कि बिहार के लोग भूल नहीं सकते वो दिन, जब सूरज ढलने का मतलब होता था, सब कुछ बंद हो जाना, ठप पड़ जाना। पहले रेलवे स्टेशन पर उतरने के बाद लोग सुबह होने तक घर नहीं जाते थे। सारी-सारी रात लोग स्टेशन पर गुजारते थे। ये वो दौर था जब लोग कोई गाड़ी नहीं खरीदते थे, ताकि एक राजनीतिक पार्टी के कार्यकर्ताओं को उनकी कमाई का पता न चल जाए लेकिन अब ऐसा नहीं है। किडनैपिंग, डकैती, हत्या और रंगदारी सरकार की निगरानी में होती थी लेकिन नीतीश के नेतृत्व में जब से राज्य में एनडीए की सरकार बनी, राज्‍य में कानून का राज कामय है। आज बिजली है, सड़के हैं, लाइट है और सबसे बड़ी बात वो माहौल है, जिसमें राज्य का सामान्य नागरिक बिना डरे रह सकता है। जी सकता है।

उन्होंने कहा जिन लोगों ने सरकारी नियुक्तियों के लिए बिहार के नौजवानों से लाखों की रिश्वत खाई, वो फिर बढ़ते हुए बिहार को ललचाई नजर से देख रहे हैं। आज बिहार में पीढ़ी भले बदल गई हो, लेकिन बिहार के नौजवानों को ये याद रखना है कि बिहार को इतनी मुश्किलों में डालने वाले कौन थे। जब उनको सत्ता से बेदखल किया गया तो वे बौखला गये। उन्होंने कहा कि जितने सर्वे हो रहे हैं, जितनी भी रिपोर्ट आ रही है, सभी में यही आ रहा है कि बिहार में फिर एक बार एनडीए की सरकार बनने जा रही है। बिहार के लोगों ने मन बना लिया है, ठान लिया है कि जिनका इतिहास बिहार को बीमारू बनाने का है, उन्हें आसपास भी नहीं फटकने देंगे। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मंडी और एमएसपी तो बहाना है, असल में दलालों और बिचौलियों को बचाना है। लोकसभा चुनाव से पहले जब किसानों के बैंक खाते में सीधे पैसे देने का काम शुरू हुआ था, तब इन्होंने कैसा भ्रम फैलाया था। जब राफेल विमानों को खरीदा गया, तब भी ये बिचौलियों और दलालों की भाषा बोल रहे थे।

त्योहार का माहौल है, लोकल सामान ही खरीदें
प्रधानमंत्री मोदी ने  आत्मनिर्भर बिहार और वोकल फॉर लोकल के नारे को दोहराया। उन्होंने लोगों से एक खास अपील करते हुए कहा कि त्योहार के इस माहौल में लोग जो भी सामान खरीदें, अधिक से अधिक लोकल ही खरीदें। मिट्टी के बर्तन, दीये और खिलौने जरूर खरीदें। अगर हम मिलकर कोशिश करेंगे तो बिहार आत्मनिर्भर बनेगा। साथ ही भागलपुर की सिल्क की साड़ी, मंजूसा पेंटिंग और अन्य उत्पादों का जिक्र करते हुए कहा कि हम मिलकर कोशिश करेंगे तो बिहार भी आत्मनिर्भर होगा और भारत भी।

विपक्ष कश्मीर में फिर 370 लाना चाहता है, देश अपने फैसले से नहीं हटेगा
प्रधानमंत्री ने कहा ये लोग (विपक्षी दल) कह रहे हैं कि सत्ता में आए तो आर्टिकल 370 फिर लागू कर देंगे। इतना सब कहकर ये बिहार के लोगों से वोट मांगने की हिम्मत कर रहे हैं। क्या ये बिहार के लोगों का अपमान नहीं है। ये लोग जिसकी चाहें मदद ले लें, देश अपने फैसलों से पीछे नहीं हटेगा।

रामविलास को श्रद्धांजलि
जदयू और भाजपा सहित विपक्षी गठबंधन को इंतजार था कि प्रधानमंत्री मोदी लोजपा और जदयू की तल्खी के बीच चिराग पासवान पर कुछ न कुछ जरूर टिप्पणी करेंगे लेकिन उन्होंने कहा कि हाल ही में बिहार ने अपने दो सपूतों को खोया है, जिन्होंने यहां के लोगों की दशकों तक सेवा की है। मेरे करीबी मित्र और गरीबों, दलितों के लिए अपना जीवन समर्पित करने वाले और आखिरी समय तक मेरे साथ रहने वाले रामविलास पासवान जी को श्रद्धाजंलि अर्पित करता हूं। बाबू रघुवंश प्रसाद सिंह जी ने भी गरीबों के उत्थान के लिए निरंतर काम किया। वो भी अब हमारे बीच नहीं हैं। मैं उन्हें भी अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। प्रधानमंत्री ने यह भी साफ किया कि बिहार में एनडीए को लेकर कोई भ्रम में न रहे। बिहार में एनडीए का मतलब भाजपा, जदयू, हम और वीआईपी है।

यह खबर भी पढ़े: राहुल बोले- हर कीमत पर बिहार में होगा बदलाव, सच्चाई जान चुके बिहारी

यह खबर भी पढ़े: राहुल गांधी ने कहा- बिहार में अगर महागठबंधन की सरकार बनी तो मैं वादा करता हूं, सभी...

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended