संजीवनी टुडे

हरियाणा के मेवात-नूंह इलाके में हिंदुओं के मौलिक अधिकारों की रक्षा के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर

संजीवनी टुडे 29-10-2020 21:29:22

हरियाणा के मेवात-नूंह इलाके में रह रहे हिंदू समुदाय के मौलिक अधिकारों की रक्षा के लिए सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की गई है।


नई दिल्ली। हरियाणा के मेवात-नूंह इलाके में रह रहे हिंदू समुदाय के मौलिक अधिकारों की रक्षा के लिए सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की गई है। याचिका में मेवात में बड़े पैमाने पर हो रहे धर्मान्तरण का जिक्र किया गया है।

याचिका कुछ वकीलों और कार्यकर्ताओं ने दायर की है। याचिकाकर्ताओं की ओर से वकील विष्णु शंकर जैन ने मेवात-नूंह इलाके में रहने वाले हिंदू समुदाय को उनकी सम्पत्ति, जमीन, मंदिर, श्मशान घाट वापस दिलाये जाने की मांग की है। याचिका में हिंदू समुदाय के साथ गैंगरेप, मर्डर, अपहरण जैसे मामलों की एसआईटी से जांच की मांग भी की गई है। याचिका में कहा गया है कि स्थानीय पुलिस अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करने में विफल रही है।

याचिका में कहा गया है कि तबलीगी जमात के संरक्षण में मुस्लिमों ने धीरे-धीरे अपनी शक्ति बढ़ाई है। हिन्दुओं की संख्या बीस फीसदी से घटकर अब दस-ग्यारह फीसदी रह गई है। हिन्दुओं से जबरन धर्मांतरण करवाया जा रहा है। याचिका में 31 मई के चार सदस्यीय कमेटी के उस रिपोर्ट का हवाला दिया है, जो कमेटी इलाके के कई गांवों में गई थी और हरियाणा के मुख्यमंत्री को अपनी रिपोर्ट सौंपी थी। याचिका में कहा गया है कि मेवात-नूंह में 431 गांव हैं, जिसमें से 103 गांवों में हिन्दू बिल्कुल नहीं हैं। 82 गांवों में केवल चार से पांच हिन्दू परिवार ही बचे हैं।

यह खबर भी पढ़े: सुप्रीम कोर्ट ने स्वामी ओमजी को 8 हफ्ते में 5 लाख रुपये जमा करवाने के दिए आदेश

यह खबर भी पढ़े: पाकिस्तान ने स्वीकार की पुलवामा हमले में अपनी संलिप्तता, कहा- हमने भारत को अंदर घुसकर मारा

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended