संजीवनी टुडे

कोरोना से संक्रमित लोग न करें लापरवाही, हो सकती है जेल, जानें धारा 269 और 270

संजीवनी टुडे 29-03-2020 20:27:59

कोरोना वायरस के चलते भारतीय दंड सहिता की धारा 188, 269 और 270 के इस्तेमाल से देश में लॉकडाउन लगाया गया। हिमाचल प्रदेश के कांगरा की 63 वर्षीय महिला के खिलाफ आईपीसी (IPC) की धारा 270 के तहत तब मामला दर्ज किया गया जब प्रशासन को उसके दुबई से लौटने की खबर मिली। महिला ने अपनी ट्रेवल हिस्ट्री छुपाई थी और बाद में वह कोरोना से संक्रमित मिली।


नई दिल्ली। चीन से फैले कोरोना ने भारत में अबतक एक हजार से ज्यादा लोगों को संक्रमित कर दिया है और 27लोगों की जान ले ली है। कोरोना के खतरे का कम करने के लिए 22 मार्च को पुरे देश में पीएम मोदी ने लॉकडाउन का एलान कर दिया था। लेकिन एक हफ्ते से कोरोना के बढ़ते मामलों में अभी कोई राहत नहीं मिली है, दिनों दिन बढ़ते जा रहे है। भारत में जो भी लोग या कोरोना से पीड़ित व्यक्ति लॉक डाउन का उल्लघन करते पाया गया है तो उसके लिए क़ानूनी कार्यवाही की जायेगी, उसके लिए सरकार ने अलग-अलग धारा बना रखी है।  

दरअसल, कोरोना वायरस के चलते भारतीय दंड सहिता की धारा 188, 269 और 270 के इस्तेमाल से देश में लॉकडाउन लगाया गया। हिमाचल प्रदेश के कांगरा की 63 वर्षीय महिला के खिलाफ आईपीसी (IPC) की धारा 270 के तहत तब मामला दर्ज किया गया जब प्रशासन को उसके दुबई से लौटने की खबर मिली। महिला ने अपनी ट्रेवल हिस्ट्री छुपाई थी और बाद में वह कोरोना से संक्रमित मिली। वही, कांगरा में ही एक 32 वर्षीय पुरुष के खिलाफ धारा 270 के तहत केस दर्ज किया गया। ये शख्स भी सिंगापुर से लौटा था और इसकी जानकारी नहीं दी थी। आईपीसी की धारा 270 किसी शख्स के वायरस या इंफेक्शन के जरिए दूसरे व्यक्ति की जान को जोखिम में डालने पर लगाई जाती है।

kanika

इसी तरह पिछले हफ्ते उत्तर प्रदेश पुलिस ने बॉलीवुड गायिका कनिका कपूर के खिलाफ आईपीसी की धारा 270 के तहत मामला दर्ज किया था। कनिका कपूर पर आईपीसी की धारा 269 और 188 भी लगाई गई थी। कनिका कपूर लखनऊ में तीन पार्टियों में शामिल हुई थी, उन पार्टी में एक राजनैतिक नेता भी मौजूद थे, जिन्हें बाद में कोरोना के लक्षण मिले। इसके अलावा कई उदाहरण और भी हैं जहां आईपीसी की धारा 269 और 270 के तहत लोगों को हिरासत में लिया गया। कोरोना जैसी महामारी पर रोक लगाने के लिए किए गए क्वारंटीन का उल्लंघन करने पर भी कुछ लोगों पर आईपीसी की ये धाराएं लगाई गई।

क्या है आईपीसी की धारा 269 और 270?
1. धारा 269 का अर्थ है, किसी बीमारी को फैलाने के लिए किया गया लापरवाही भरा काम जिससे किसी अन्य व्यक्ति की जान को खतरा हो सकता है।
2. धारा 270 का अर्थ है, किसी बीमारी को फैलाने के लिए किया गया घातक या नुकसानदेह काम जिससे किसी अन्य व्यक्ति की जान को खतरा हो सकता है।

ये दोनों धाराएं भारतीय दंड सहिता के अध्याय 14 के तहत आते हैं, जिसमें जनता के स्वास्थ्य, सुरक्षा, सुख, शिष्टाचार और नैतिकता पर असर डालने वाले अपराध शामिल है। बता दे, भारत देश में अब तक कोरोना वायरस से संक्रमितों के 1102 मामले आ चुके हैं। आज कोरोना के 73 नए केस आये है। अब तक 27 लोगो की मौत हो चुकी है और 90 लोग ठीक हो चुके है। कोरोना वायरस से एक्टिव लोगो की संख्या 985 है।

यह भी पढ़े: कोरोना के खिलाफ जंग लड़ने के लिए रोनाल्डो सहीत फुटबॉलर्स ने दिए 753 करोड़ रूपये, जबकि गौतम गंभीर और खेल मंत्री...

यह भी पढ़े: वर्ल्ड कप जिताने वाला ये भारतीय क्रिकेटर निकला सड़कों पर, लोगों को दी घर में रहने की सलाह

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended