संजीवनी टुडे

यात्रीगण कृप्या ध्यान दें, विमानन मंत्रालय ने घरेलू उड़ानों से हटाई चेक इन बैगेज की सीमा

संजीवनी टुडे 24-09-2020 22:27:35

नागर विमानन मंत्रालय ने घरेलू यात्री उड़ानों के लिए सामान की सीमा (चेक इन बैगेज) समाप्त कर दी गई है।


नई दिल्ली। नागर विमानन मंत्रालय ने घरेलू यात्री उड़ानों के लिए सामान की सीमा (चेक इन बैगेज) समाप्त कर दी गई है। मंत्रालय ने विमानन कंपनियों को घरेलू यात्री उड़ानों के लिए सामान की सीमा तय करने की अनुमति दे दी है। एक आधिकारिक आदेश में यह जानकारी सामने आई। अब एयरलाइंस घरेलू चेक इन बैगेज सीमा को वापस 15 किलोग्राम पर रीसेट कर पाएंगी।

कोरोना के चलते अभी एक चेक-इन बैग की अनुमति
कोरोना वायरस महामारी के कारण दो महीने के अंतराल के बाद जब 25 मई को घरेलू यात्री उड़ान सेवा बहाल हुई थी, तब मंत्रालय ने कहा था कि प्रत्येक यात्री को केवल एक चेक-इन बैग और हाथ से उठाने लायक एक बैग लेकर विमान में जाने की अनुमति होगी। मंत्रालय ने एक आदेश में कहा कि, 'विमानन कंपनियां अपनी नीति के तहत सामान की सीमा तय कर सकती हैं।' कोरोना वायरस की स्थिति से पहले जितनी संख्या में घरेलू उड़ानें परिचालित होती थीं, वर्तमान में उसके 60 फीसदी से अधिक उड़ानों के परिचालन की अनुमति नहीं दी गई है।

बुरी तरह प्रभावित हुई हवाई यात्रा सेवाएं 
मालूम हो कि कोरोना वायरस को नियंत्रित करने के लिए लगाए गए लॉकडाउन से हवाई यात्रा सेवाएं बुरी तरह प्रभावित हुई हैं। हालांकि अब देश में हवाई यात्रा सामान्य स्थिति की तरफ लौट रही है। बुधवार को विमानन कंपनियों ने 1320 उड़ानों का संचालन किया जबकि शुरुआत में यह संख्या 700 थी। जबकि कोविड-19 से पहले देश में रोजाना 2500 उड़ानें संचालित हो रही थीं।

इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (आईएटीए) के सीईओ एलेक्जेंडर डि जुनियाक ने कहा था कि वैश्विक महामारी कोविड-19 के चलते रेवेन्यू पैसेंजर किलोमीटर (राजस्व यात्री किलोमीटर) अपनी 2019 की स्थिति में साल 2024 तक लौट सकेगा। 

यह खबर भी पढ़े: रेलवे ने किसानों के ‘रेल रोको’ आंदोलन को लेकर दिया बड़ा बयान, कहा- इससे खाद्यान्न की आपूर्ति बुरी तरह होगी प्रभावित

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended