संजीवनी टुडे

सुखोई-राफेल के आगे पाक और चीन अब भारत के खिलाफ नहीं कर पाएंगे नापाक हरकत: RKS भदौरिया

संजीवनी टुडे 12-07-2019 10:51:26

फ्रांस के Mont De Marsan एयरबेस भारतीय वायुसेना और फ्रांस एयरफोर्स के फाइटर विमान के बीच बड़ा युद्धाभ्यास चल रहा है। इस संयुक्त इंडो-फ्रेंच युद्ध अभ्यास में मिराज 2000, सुखोई 30 एमकेआई, अल्फा जेट विमान शामिल हैं। लेकिन जो विमान सबसे ज्यादा चर्चा में है, उसका नाम है राफेल और वह जल्द ही भारतीय वायुसेना में शामिल होने वाला है।


नई दिल्ली। फ्रांस के Mont De Marsan एयरबेस भारतीय वायुसेना और फ्रांस एयरफोर्स के फाइटर विमान के बीच बड़ा युद्धाभ्यास चल रहा है। इस संयुक्त इंडो-फ्रेंच युद्ध अभ्यास में मिराज 2000, सुखोई 30 एमकेआई, अल्फा जेट विमान शामिल हैं। लेकिन जो विमान सबसे ज्यादा चर्चा में है, उसका नाम है राफेल और वह जल्द ही भारतीय वायुसेना में शामिल होने वाला है। गरुड़ युद्धाभ्यास के दौरान भारतीय वायुसेना के उप वायुसेना प्रमुख एयर मार्शल आरकेएस भदौरिया ने खुद राफेल लड़ाकू विमान उड़ाया। 

आरकेएस भदौरिया ने कहा कि राफेल लड़ाकू विमान दुनिया का बेहतरीन विमान है।  भारतीय वायुसेना इसके आने से उसकी ताकत कई गुना बढ़ जाएगी। सुखोई और राफेल की जोड़ी की ताकत के आगे पाकिस्तान और चीन अब भारत के खिलाफ कोई नापाक हरकत नहीं कर पाएंगे। भारतीय वायु सेना में टेक्नोलॉजी और हथियार के रूप में राफेल एक बार फिर गेम चेंजर साबित होगा। आने वाले सालों में यह आक्रमक मिशनों और युद्ध जैसी स्थितियों में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। आपको बतादें की वाइस चीफ एयर मार्शल  आरकेएस भदौरिया राफेल लड़ाकू विमान खरीद टीम के चेयरमैन रहे हैं। 

आपको बतादें की भारतीय वायुसेना के 120 योद्धाओं की टुकड़ी फ्रांस पहुंची है। इनमें सुखोई 30 एमकेआई विमान, सी17 ग्लोबमास्टर मालवाहक विमान और आईएल 78 ईधन भरने वाले विमान शामिल हैं। फ्रांसीसी वायुसेना राफेल, अल्फा जेट, मिराज 2000, C135, E3F, C130 और कासा जैसे विमानों के साथ भारतीय वायुसेना की मेजबानी कर रही है। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

 

यह अभ्यास इंडियन एयर फाॅर्स पायलट और कर्मियों के लिए राफेल जेट विमानों के बारे में ज्यादा जानने का अवसर दे रहा है। 

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

 

More From national

Trending Now