संजीवनी टुडे

विपक्षी नेताओं से सजा चंद्रबाबू नायडू के धरने का मंच

संजीवनी टुडे 11-02-2019 17:54:15


नई दिल्ली। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू के दिल्ली में सोमवार को आयोजित दिनभर के धरने व अनशन में विपक्ष के कई नेता जुटे, जिन्होंने उनके मंच से केंद्र सरकार पर कई तरह से हमला किया। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, नेशनल कॉन्फ़्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला, तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ ब्रायन, द्रमुक के नेता तिरुचि शिवा और समाजवादी पार्टी के संस्थापक सदस्य मुलायम सिंह यादव अन्य कई विपक्षी नेताओं की तरह उनके समर्थन में धरना स्थल पर पहुंचे। चंद्रबाबू नायडू का यह धरना दिल्ली के आंध्र प्रदेश भवन पर सुबह 8 बजे से शुरू हुआ था और रात 8 बजे तक चलेगा। वे कल राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को एक ज्ञापन सौंपेंगे। धरने की शुरुआत से पूर्व वह महात्मा गांधी की समाधि राजघाट गए और आंध्र प्रदेश भवन में अंबेडकर की मूर्ति पर श्रद्धा सुमन अर्पित किए। 

जयपुर में प्लॉट मात्र 2.40 लाख में Call On: 09314166166

टीडीपी के नेता ने केंद्र सरकार से आंध्र प्रदेश के विभाजन के बाद बने नए आंध्र के लिए किए गए वादों को पूरा करने की मांग की। चंद्रबाबू के मंच से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आंध्र प्रदेश के लोगों से उनका हक छीना और उसे अनिल अंबानी को दे दिया। कांग्रेस के नेता आनंद शर्मा, अहमद पटेल, जयराम रमेश भी आंध्र के मुख्यमंत्री के समर्थन में धरना स्थल पर पहुंचे। डेरेक ओ ब्रायन ने आंध्र प्रदेश के गुंटूर में दिए प्रधानमंत्री के भाषण पर कहा कि जिनके खुद के घर शीशे के होते हैं, वह दूसरों के घरों पर पत्थर नहीं फेंकते। प्रधानमंत्री ने इस रैली में आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री पर उनके अपने ससुर एनटी रामाराव से धोखा करने का आरोप लगाया था। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि प्रधानमंत्री इतना नीचे गिर गए हैं कि अब वह नेताओं पर व्यक्तिगत आक्षेप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जम्मू श्रीनगर हाईवे 6 दिन से बंद पड़ा है और इस 30 किलोमीटर रास्ते को साफ नहीं किया जा रहा है। मुलायम सिंह यादव ने कहा कि नायडू गरीबों की लड़ाई लड़ रहे हैं। वह किसानों और हर उस की लड़ाई लड़ रहे हैं जिन्हें दबाया जा रहा है। द्रमुक नेता शिवा ने कहा कि आने वाले 3 महीनों में मोदी सरकार सत्ता से बाहर हो जाएगी। राज्यों के अधिकारों पर कब्जा करने की कोशिश की जा रही है और अल्पसंख्यक अधिकारों का उल्लंघन हो रहा है। 

More From national

Trending Now
Recommended