संजीवनी टुडे

अपतटीय गश्ती पोत-6 'वज्र' को चेन्नई में किया गया लॉन्च

संजीवनी टुडे 27-02-2020 20:12:02

शुभारंभ समारोह में मुख्य अतिथि मंडाविया ने भारत के समुद्री इतिहास को याद करते हुए कहा कि भारत की समृद्ध समुद्री विरासत को हासिल करने और उसे प्रदर्शित करने के लिए गुजरात के लोथल में राष्ट्रीय समुद्री विरासत परिसर विकसित किया जाएगा।


नई दिल्ली। नौवहन (स्‍वतंत्र प्रभार), रसायन एवं उर्वरक राज्यमंत्री मनसुख मंडाविया ने गुरुवार को चेन्नई में छठे तटरक्षक अपतटीय गश्ती पोत (ओपीवी-6) 'वज्र' को लॉन्च किया। ‘मेक इन इंडिया’ नीति के तहत लॉन्च किया गया यह पोत सात ओपीवी परियोजनाओं की श्रृंखला में छठा है। मंडाविया ने कहा कि यह भारतीय तटरक्षक बल के लिए एक महत्वपूर्ण अवसर है क्योंकि छठे ओपीवी को पहली बार समुद्र में उतारा जा रहा है, जिससे 20 लाख वर्ग किलोमीटर से अधिक बड़े विशेष आर्थिक क्षेत्र (ईईजेड) के 7500 किलोमीटर से अधिक विशाल समुद्र तट को सुरक्षित किया जा सकेगा।

शुभारंभ समारोह में मुख्य अतिथि मंडाविया ने भारत के समुद्री इतिहास को याद करते हुए कहा कि भारत की समृद्ध समुद्री विरासत को हासिल करने और उसे प्रदर्शित करने के लिए गुजरात के लोथल में राष्ट्रीय समुद्री विरासत परिसर विकसित किया जाएगा। उन्‍होंने कहा कि भारत सिंधु घाटी की सभ्यता में कुछ शताब्दियों को छोड़कर हमेशा से समुद्री प्रौद्योगिकी में मजबूत साझेदार रहा है। उन्‍होंने कहा कि भारत जहाज निर्माण और भारत के जल की रक्षा के मामले में समर्पित दृष्टिकोण के साथ अपनी समुद्री क्षमताओं को फिर से हासिल कर रहा है। वैश्विक व्‍यापार के लिए भारतीय जल सीमा से होते हुए प्रतिवर्ष एक लाख से अधिक व्यापारी जहाजों का आना-जाना होता है।

केंद्रीय मंत्री ने निर्धारित समय सीमा पर पोत के वितरण के लिए मेसर्स लार्सन और टूब्रो (एल एंड टी) जहाज निर्माण लिमिटेड को भी बधाई दी। मंडाविया ने कहा कि ओपीवी-6 वास्तव में अत्‍याधुनिक सुविधा है, जो ऑपरेशन, निगरानी, खोज और बचाव के मामले में भारतीय तटरक्षक बल की क्षमताओं को बढ़ाएगा। भारतीय तटरक्षक बल ने 43 वर्षों के भीतर अपने बेड़े की ताकत बढ़ा दी है और अब यह दुनिया के सबसे बड़े तट रक्षकों में से एक है। जहाज का उपयोग दिन और रात गश्त/निगरानी के साथ-साथ विशेष आर्थिक क्षेत्र (ईईजेड) में आतंकवाद-रोधी/तस्करी विरोधी अभियानों के साथ-साथ तटीय सुरक्षा के लिए भी किया जाएगा। ओपीवी में अल्ट्रा-आधुनिक तकनीक के साथ दो नेविगेशन रडार, अत्याधुनिक नेविगेशनल और नवीनतम संचार प्रणाली होगी।

समारोह में महानिदेशक के. नटराजन, पीटीएम, टीएम, भारतीय तट रक्षक महानिदेशक, महानिरीक्षक एस. परमेश, पीटीएम, टीएम, कमांडर तटरक्षक क्षेत्र (पूर्व) एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

यह खबर भी पढ़े: दिल्ली में हुई हिंसा पर मनोज तिवारी और गौतम गंभीर ने 'आप' पर लगाए आरोप, कहा- केजरीवाल...

यह खबर भी पढ़े: कांग्रेस की गलतबयानी के कारण बिगड़ा माहौल, दो महीने से हो रही थी हिंसा की तैयारी : जावड़ेकर

मात्र 289/- प्रति sq. Feet में जयपुर में प्लॉट बुक करें 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From national

Trending Now
Recommended