संजीवनी टुडे

उमर अब्दुल्ला की बहन की याचिका पर जम्मू-कश्मीर प्रशासन को नोटिस

संजीवनी टुडे 14-02-2020 14:39:19

सुप्रीम कोर्ट ने उमर अब्दुल्ला को पब्लिक सेफ्टी एक्ट (पीएसए) के तहत हिरासत में रखने के खिलाफ उनकी बहन सारा पायलट की अर्जी पर सुनवाई करते हए जम्मू-कश्मीर प्रशासन को नोटिस जारी किया है। कोर्ट ने दो मार्च तक जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया है।


नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने उमर अब्दुल्ला को पब्लिक सेफ्टी एक्ट (पीएसए) के तहत हिरासत में रखने के खिलाफ उनकी बहन सारा पायलट की अर्जी पर सुनवाई करते हए जम्मू-कश्मीर प्रशासन को नोटिस जारी किया है। कोर्ट ने दो मार्च तक जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया है। इस मामले की अगली सुनवाई दो मार्च को होगी।

पिछले 12 जनवरी को जस्टिस एम.एम. शांतानागौदर ने खुद को इस सुनवाई से अलग कर लिया था। सारा पायलट ने पब्लिक सेफ्टी एक्ट के तहत उमर अब्दुल्ला के हिरासत को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। उमर अब्दुल्ला 05 अगस्त,2019 से सीआरपीसी की धारा-107 के तहत हिरासत में थे। 

इस कानून के तहत उमर अब्दुल्ला की छह महीने की एहतियातन हिरासत अवधि गुरुवार यानी 05 फरवरी,2020 को खत्म होने वाली थी। पांच फरवरी को उमर अब्दुल्ला को पब्लिक सेफ्टी एक्ट के तहत हिरासत में रखने का आदेश दिया गया। याचिका में पांच फरवरी के आदेश को चुनौती दी गई है। याचिका में कहा गया है कि पांच फरवरी का आदेश असंवैधानिक है।

याचिका में कहा गया है कि उमर अब्दुल्ला को पहले से ही छह महीने की हिरासत में रखा गया है। अब नए सिरे से हिरासत में रखने का आदेश मौलिक अधिकारों का उल्लंघन है। उमर अब्दुल्ला के खिलाफ अभी कोई ऐसा साक्ष्य नहीं है कि उन्हें हिरासत में लिया जाए।

यह खबर भी पढ़े: पुलवामा हमले का एक साल: राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर उठाए सवाल, पूछा- सबसे ज्यादा फायदा...

यह खबर भी पढ़े: Happy Valentine's Day: आखिर 14 फरवरी को ही क्यों मनाया जाता हैं वैलेंटाइन डे, जानें इसकी रोचक दास्ता

जयपुर में प्लॉट मात्र 289/- प्रति sq. Feet में  बुक करें 9314166166

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended