संजीवनी टुडे

नीति आयोग के सलाहकार ने आदर्श जलग्राम ‘जखनी’ का किया दौरा, जल संरक्षण के कार्यों का किया निरीक्षण

संजीवनी टुडे 24-11-2020 00:15:00

इस दौरान उन्होंने जखनी गांव में हुए जल संरक्षण के कार्यों का निरीक्षण किया।


नई दिल्ली। जल संरक्षण की दिशा में बेहतर कार्य करने के कारण केंद्र सरकार की तरफ से सराहना बटोरने वाले उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड के जखनी गांव का नीति आयोग के जल भूमि विकास सलाहकार अविनाश मिश्रा ने दौरा किया। वह दिल्ली से रविवार को यहां पहुंचे और सोमवार को  रवाना हुए। इस दौरान उन्होंने जखनी गांव में हुए जल संरक्षण के कार्यों का निरीक्षण किया। 

अपने दौरे पर अविनाश मिश्रा ने जखनी गांव के किसानों के सामुदायिक मेड़बंदी प्रयास को देखने के साथ गांव के तालाबों, कुओं को तथा परंपरागत जल स्रोत नालों का निरीक्षण किया। यहां किसानों ने बिना किसी सरकार मदद के तालाब बनाए हैं, जिनसे उनके गांव के साथ आज-पास को गांव को भी फायदा होता है। 

इस दौरान नीति आयोग के सलाहकार ने जखनी के किसानों-नौजवानों की प्रशंसा भी की। उन्होंने कहा कि मेड़बंदी से पोषक तत्व खेत में ही बने रहते हैं, मृदा कटाव रुक जाता है, नमी संरक्षण से फसल के अवशेष सड़ने से खेत को परंपरागत जैविक ऊर्जा प्राप्त होती है। ऐसे में जखनी गांव के लोगों का सामूहिक प्रयास सराहनीय है। इस प्रकार के प्रयास वृहद स्तर पर किए जाने की जरूरत है। 

उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश के बांदा जिले के जखनी गांव में जल संरक्षण की दिशा में हो रहे कार्यों को केंद्र सरकार ने सराहा है। केंद्र ने जखनी को आदर्श जलग्राम घोषित किया है। जल संरक्षण के लिए ‘खेत पर मेड़ - मेड़ पर पेड़’ का मंत्र देने वाले सर्वोदय कार्यकर्ता उमाशंकर पांडेय को पिछले दिनों केंद्र सरकार जल योद्धा पुरस्कार से सम्मानित भी कर चुकी है।

यह खबर भी पढ़े: कोरोना को लेकर मंगलवार को राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करेंगे पीएम मोदी

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended