संजीवनी टुडे

निपाह वायरस का कहर, केंद्र सरकार ने मदद का दिया आश्वासन

संजीवनी टुडे 22-05-2018 16:20:14


नई दिल्ली। केरल के कोझीकोड में निपाह वायरस के मामलों की बढ़ती संख्या तथा रिपोर्ट की गई मौतों को ध्यान में रखते हुए केंद्र स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री जे.पी. नड्डा ने केरल सरकार को सभी प्रकार का समर्थन देने का आश्वासन दिया है तथा राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी) के एक बहु-प्रशासनिक टीम को जिले का तुरंत दौरा करने, राज्य को सहायता प्रदान करने और स्थिति की बारीकी से निगरानी करने का निर्देश दिया है। टीम आज ही केरल पहुँचेगी।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने जिनेवा से एक बयान में कहा, ‘हम स्थिति की बारीकी से निगरानी कर रहे है। मैंने अल्फोन्स तथा केरल की स्वास्थ्य मंत्री के. शैलजा से बातचीत की है और उन्हें केंद्र सरकार की तरफ से सभी प्रकार की सहायता देने का आश्वासन दिया है। राज्य सरकार को सहायता प्रदान करने तथा आवश्यक कदम उठाने के लिए मैंने एक केंद्रीय टीम भेजी है।’ स्वास्थ्य मंत्री के निर्देश पर स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय की सचिव प्रीति सूदन ने केरल के प्रधान स्वास्थ्य सचिव से बात की है तथा स्थिति की समीक्षा की है।

केंद्रीय टीम में राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र के निदेशक डॉ. सुजीत के सिंह, ईपीडेमियोलोजी विभाग (एनसीडीसी) के प्रमुख डॉ एस. के जैन, आपातकालीन चिकित्सा राहत (ईएमआर), के निदेशक डॉ. पी रविंद्रन,  ज़ूनोसिस विभाग (एनसीडीसी) के प्रमुख डॉ. नवीन गुप्ता तथा दो चिकित्साकर्मी और पशुपालन मंत्रालय के एक विशेषज्ञ शामिल हैं।


 निपाह वायरस कैसे फैलता है ?
फ्रूट बैट प्रजाति के चमगादड़ इस संक्रमण को तेजी फैलाते हैं। इसकी वजह यह है कि यह एक मात्र स्तनधारी है जो उड़ सकता है। पेड़ पर लगे फलों को खाकर संक्रमित कर देता है। जब पेड़ से गिरे इन संक्रमित फलों को इनसान खा लेता है तो वह बीमारी की चपेट में आ जाता है।

MUST WATCH

 

फिलहाल निपाह वायरस से संक्रमण का कोई इलाज नहीं है। एक बार संक्रमण फैल जाने पर मरीज 24 से 48 घंटे तक में कोमा जा सकता है और मौत तक संभव है।

More From national

Loading...
Trending Now
Recommended