संजीवनी टुडे

दुष्कर्म पीड़ित किशोरी बनी मां, महिला आयोग ने लिया संज्ञान

संजीवनी टुडे 13-06-2019 17:38:04

वहशी दरिंदों के चंगुल से सालभर बाद मुक्त हुई बलात्कार पीड़ित सत्रह वर्षीय लड़की के मां बनने से परिजन सकते में हैं


फरीदाबाद। वहशी दरिंदों के चंगुल से सालभर बाद मुक्त हुई बलात्कार पीड़ित सत्रह वर्षीय लड़की के मां बनने से परिजन सकते में हैं। इस पर महिला आयोग ने स्वतः संज्ञान लिया है। आयोग की सदस्य रेणु भाटिया गुरुवार को जच्चा-बच्चा को देखने अस्पताल पहुंचीं। इस प्रसव को पूरी तरह छिपा कर रखा गया। रेणु भाटिया के अस्पताल पहुंचने पर साफ हुआ कि इस लड़की ने 8 जून को लड़के को जन्म दिया है। रेणु भाटिया ने डॉक्टरों से जच्चा-बच्चा के स्वास्थ्य पर चर्चा की। उन्होंने अस्पताल में मौजूद पीड़ित के माता-पिता से भी बात की। पिता का कहना है कि इसमें उनकी बेटी की कोई गलती नहीं है। वह लड़के को पाल-पोस कर बड़ा करेंगे। बेटी को उच्च शिक्षा दिलाएंगे। 

दसवीं कक्षा में पढ़ने वाली पीड़ित को 16 महीने पहले 12 फरवरी 2018 को अगवा किया गया था। अपहर्ताओं ने उसे 20 हजार रुपये में 45 साल के एक व्यक्ति को बेच दिया। आरोपी ने इस लड़की की मर्जी के बिना उससे ब्याह रचा लिया। एक साल तक उसे अपने घर में कैद रखा। यौन संबंध बनाए। पीड़ित परिवार का कहना है कि अपहर्ताओं के अलावा कथित सास और ननद को फौरन गिरफ्तार किया जाए। इस लड़की को बल्लभगढ़ से अगवा किया गया था। अपहर्ता उसे दिल्ली के पालम विहार ले गए। यहां उसका 20 हजार रुपये में सौदा करके उसे एक महिला और 45 साल के व्यक्ति के हवाले कर दिया गया। यह लोग उसे बदायूं ले गए। सालभर घर की चहारदीवारी में कैद रखा। कुछ दिन पहले उसने अपने परिजनों को फोनकर आपबीती सुनाई। परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस की मदद से लड़की को छुड़ाया गया। पुलिस इस मामले में इस लड़की से जबरन शादी रचाने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार कर चुकी है। वह फिलहाल न्यायिक हिरासत में है। 

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166 

More From national

Trending Now
Recommended