संजीवनी टुडे

मौसम विभाग- राजस्थान में सोमवार तक भारी बारिश की चेतावनी

संजीवनी टुडे 25-08-2019 14:20:39

राजस्थान में मानसून के फीका पड़ने के कारण सप्ताह भर से बरसात का दौर लगभग थम जाने से बढ़ी उमस एवं तेज गर्मी के बीच मौसम विभाग ने सोमवार तक एक दो स्थानों पर बहुत भारी बारिश की चेतावनी दी है, जिससे प्रदेश के एक दर्जन जिलों में असर पड़ने की संभावना है।


जयपुर। राजस्थान में मानसून के फीका पड़ने के कारण सप्ताह भर से बरसात का दौर लगभग थम जाने से बढ़ी उमस एवं तेज गर्मी के बीच मौसम विभाग ने सोमवार तक एक दो स्थानों पर बहुत भारी बारिश की चेतावनी दी है, जिससे प्रदेश के एक दर्जन जिलों में असर पड़ने की संभावना है। 
 

यह भी पढ़े:बाढ़ से प्रभावित कोल्हापुर, सांगली को वित्तीय मदद

 
मौसम विभाग के अनुसार रविवार एवं सोमवार को एक दो स्थानों पर बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है, जिससे राज्य के भीलवाड़ा, कोटा, झालावाड़, बूंदी बांरा, उदयपुर, डूंगरपुर, बांसवाड़ा, राजसमंद, चित्तौड़गढ एवं सिरोही जिला प्रभावित हो सकते है। इसी तरह मंगलवार को भी एक दो स्थानों पर भारी बरसात की संभावना है, जिसका असर प्रदेश के उदयपुर, डूंगरपुर, बांसवाड़ा, राजसमंद, चित्तौड़गढ, प्रतापगढ, एवं सिरोही जिले के क्षेत्रों में पड़ सकता है।

यह भी पढ़े:हर देशवासी कम से कम एक व्यक्ति को कुपोषण से बाहर निकाले : मोदी

जल संसाधन विभाग से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार राज्य में सप्ताहभर पहले अच्छी बरसात का दौर चलने से जहां ग्यारह जिलों में असामान्य वर्षा रिकॉर्ड की गई, लेकिन पिछले करीब एक सप्ताह से अच्छी वर्षा का दौर थम जाने से प्रदेश में इन जिलों की संख्या घटकर पांच तक पहुंच गई। हालांकि गत एक जून से अब तक राज्य के बीस जिलों में सामान्य से अधिक बरसात हो चुकी है जिनमें अजमेर, बूंदी, झुंझुनूं, नागौर एवं सीकर में असामान्य (सामान्य से 60 प्रतिशत अधिक) बरसात हुई। 
 
प्रदेश के पन्द्रह जिलों में सामान्य से अधिक (सामान्य से 20 से 59 प्रतिशत अधिक) बारिश दर्ज की गई जबकि आठ जिलों में सामान्य बरसात हुई। हालांकि इस दौरान हनुमानगढ़, जैसलमेर, करौली, गंगानगर एवं अलवर जिलों में अभी बरसात की कमी बनी हुइै है। इनमें हनुमानगढ़ जिले में अभी केवल 121 मिलीमीटर वर्षा ही हुई है जो सामान्य से 40़ 7 प्रतिशत कम है। 
 
राज्य में अब तक 533़ 03 मिलीमीटर बरसात हो चुकी है जो सामान्य वर्षा 408़ 37 के मुकाबले 35़ 4 प्रतिशत अधिक है। गत वर्ष इस दौरान 395़ 11 मिलीमीटर बारिश हुई थी। गत वर्ष इस दौरान प्रदेश के केवल चार जिलों में ही सामान्य से अधिक बरसात हुई और किसी भी जिले में अतिवृष्टि के हालात नहीं बने तथा बीस जिलों में सामान्य बारिश रिकॉर्ड की गई जबकि नौ जिलों में बरसात की कमी रही। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

 
 

प्रदेश में इस महीने के पहले पखवाड़े में मूसलाधार बारिश के कारण कई बड़े बांध लबालब हो गये और शनिवार तक कोटा बैराज बांध से एक गेट के जरिए 2467़ 64 क्यूसेक, कोटा के ही जवाहर सागर बांध से 1590़ 75, टोंक के बिसलपुर से 3100 , झालावाड़ जिले के कालीसिंध बांध के दो गेट खोलकर 8488़ 70 क्यूसेक पानी की निकासी की जारी थी। अच्छी बरसात के कारण अब तक राज्य के छोट बड़े 296 बांध लबालब हो चुके हैं, जिनमें 104 बांध बड़े है। इसके अलावा अब तक 344 बांध आंशिक रुप से भर चुके हैं।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From national

Trending Now
Recommended