संजीवनी टुडे

मन की बात: मोदी ने स्कूलों से की फिट इंडिया सप्ताह मनाने की अपील

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 24-11-2019 13:01:03

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिसबंर में फिट इंडिया सप्ताह मनाने के लिए सभी राज्यों के स्कूल बोर्ड और स्कूलों के प्रबंधन से अपील की है।


नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिसबंर में ‘फिट इंडिया’ सप्ताह मनाने के लिए सभी राज्यों के स्कूल बोर्ड और स्कूलों के प्रबंधन से अपील की है।

मोदी ने अपने मासिक 'मन की बात' कार्यक्रम में देशवासियों को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने फिट इंडिया सप्ताह की एक सराहनीय पहल की है। इसके तहत स्कूल दिसम्बर महीने में कभी भी फिट इंडिया सप्ताह मना सकते हैं। इसमें फिटनेस को लेकर कई प्रकार के आयोजन किए जाने हैं। इनमें क्विज, निबंध, लेख, चित्रकारी, पारंपरिक और स्थानीय खेल, योगासन, नृत्य एवं खेलकूद प्रतियोगिताएं शामिल हैं।

यह खबर भी पढ़ें:​ संजय राउत का बड़ा बयान, कहा- 165 विधायक हमारे साथ, BJP का सपना नहीं होगा पूरा

उन्होंने कहा ,“ फिट इंडिया सप्ताह में विद्यार्थियों के साथ-साथ उनके शिक्षक और माता-पिता भी भाग ले सकते हैं। लोगों को यह नहीं भूलना भूलना चाहिए कि फिट इंडिया का मतलब सिर्फ दिमागी कसरत, कागजी कसरत या लैपटॉप या कंप्यूटर पर या मोबाइल पर फिटनेस का एप देखते रहना है। जी ,नहीं,पसीना बहाना है। खाने की आदतें बदलनी है। अधिकतम गतिविधियों पर ध्यान केंद्रित करने की आदत बनानी है। ”

प्रधानममंत्री ने सभी राज्यों के स्कूल बोर्ड और स्कूलों के प्रबंधन से अपील करते हुए कहा कि प्रत्येक स्कूल में दिसम्बर में फिट इंडिया सप्ताह मनाया जाए। इससे फिटनेस की आदत हम सभी की दिनचर्या में शामिल होगी। फिट इंडिया आंदोलन में फिटनेस को लेकर स्कूलों की रैंकिंग की व्यवस्था भी की गई हैं। इस रैंकिंग को हासिल करने वाले सभी स्कूल 'फिट इंडिया लोगो' और फ्लैग का इस्तेमाल भी कर पाएंगे। उन्होंने कहा कि फिट इंडिया पोर्टल पर जाकर स्कूल स्वयं को फिट घोषित कर सकते हैं। फिट इंडिया थ्री स्टार और फिट इंडिया फाइव स्टार रेटिंग भी दी जाएगी।

यह खबर भी पढ़ें:​ अगर आपको चलने नहीं दे रहा है घुटनों का दर्द तो अपनाएं ये देशी फंडे, मिलेगा आराम

उन्होंने सभी स्कूलों से फिट इंडिया रैंकिंग में शामिल होने का अनुरोध किया। मोदी ने कहा कि फिट इंडिया एक जनांदोलन बने और जागरूकता आए, इसके लिए प्रयास करना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From national

Trending Now
Recommended