संजीवनी टुडे

ममता सरकार ने कोलकाता पुलिस आयुक्त को हटाया, राजीव कुमार का पद बहाल

संजीवनी टुडे 26-05-2019 22:45:22


कोलकाता। लोकसभा चुनाव बीतने के साथ पश्चिम बंगाल सरकार ने राज्य के उन सभी अधिकारियों का तबादला कर दिया है जिनकी नियुक्ति चुनाव आयोग ने की थी। सबसे पहले कोलकाता पुलिस के आयुक्त डॉ राजेश कुमार को हटाया गया है। उनकी जगह अनुज शर्मा को दोबारा कोलकाता पुलिस का आयुक्त नियुक्त किया गया है। राजीव कुमार को हटाए जाने के बाद बंगाल सरकार ने अनुज शर्मा को ही कोलकाता पुलिस आयुक्त बनाया था, लेकिन चुनाव आयोग ने उन पर पक्षपात का आरोप लगने के बाद शर्मा को हटाकर उनकी जगह पर डॉ. राजेश कुमार को नियुक्त किया था।

राजेश कथित तौर पर भाजपा नेता मुकुल रॉय के करीबी बताए जाते हैं। उनका तबादला किए जाने के बाद उन्हें वेटिंग पर रखा गया है। 
विधाननगर में चुनाव आयोग की ओर से आयुक्त बनाकर नियुक्त किए गए नटराजन रमेश बाबू को बंगाल सरकार ने हटा दिया है। उन्हें भी वेटिंग पर भेज दिया गया है और उनकी जगह पर ज्ञानवंत सिंह को एक बार फिर बिधाननगर का आयुक्त नियुक्त किया गया है। उन्हीं के आयुक्त रहते कोलकाता हवाई अड्डे पर अभिषेक बनर्जी की पत्नी को कस्टम विभाग द्वारा रोके जाने पर कथित तौर पर पुलिस ने कस्टम अधिकारियों को धमकाया था और अभिषेक की पत्नी को छुड़ा ले गए थे। शिकायत मिलने के बाद चुनाव आयोग ने ज्ञानवंत सिंह को हटा दिया था और नटराजन रमेश बाबू को बिधाननगर पुलिस आयुक्त बनाया गया था।

 इन अधिकारियों के अलावा बंगाल सरकार ने हावड़ा पुलिस आयुक्तालय के पूर्व आयुक्त रहे डीपी सिंह को बैरकपुर पुलिस आयुक्तालय में आयुक्त नियुक्त किया है जबकि यहां के वर्तमान आयुक्त सुनील चौधरी को वेटिंग में भेज दिया गया है।  बीरभूम जिले में पुलिस अधीक्षक के पद पर वापस श्याम सिंह को बहाल कर दिया गया है। चुनाव आयोग ने इनका तबादला कर दिया था और उनकी जगह आवारू रवींदनाथ को नियुक्त किया गया था। बंगाल सरकार ने रवींद्रनाथ का तबादला कर एयरपोर्ट जोन का डीसी (दो) नियुक्त किया है। 

इसी तरह से चुनाव आयोग द्वारा कूचबिहार के एसपी के तौर पर नियुक्त किए गए अमित सिंह का भी तबादला बंगाल सरकार ने कर दिया है। उन्हें वेटिंग में भेज दिया गया है और उनकी जगह पर आईपीएस अभिषेक गुप्ता को कूचबिहार पुलिस अधीक्षक के पद पर बहाल कर दिया गया है। लोकसभा चुनाव से पहले अभिषेक इसी पद पर थे। सबसे पहले चुनाव आयोग ने इन्हीं का तबादला किया था। 

इधर एक तरफ सीबीआई राजीव कुमार को गिरफ्तार करने में जुटी है तो दूसरी ओर पश्चिम बंगाल सरकार ने आदर्श आचार संहिता खत्म होने के बाद राजीव कुमार को वापस राज्य सीआईडी के एडीजी के  पद पर बहाल कर दिया है। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

कोलकाता पुलिस से हटने के बाद उन्हें इसी पद पर नियुक्त किया गया था लेकिन मतदान चलने के दौरान भाजपा नेताओं को अवैध तरीके से गिरफ्तार करने की वजह से चुनाव आयोग ने उन्हें केंद्रीय गृह मंत्रालय में अटैच कर दिया था लेकिन रविवार को छुट्टी रहने के बावजूद राज्य के गृह विभाग की ओर से जारी अधिसूचना के अनुसार राजीव कुमार को दोबारा सीआईडी के एडीजी पद पर बहाल किया गया है। उन्हें तत्काल प्रभाव से अपनी ड्यूटी ज्वाइन करने को कहा गया है।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

 

More From national

Trending Now
Recommended