संजीवनी टुडे

चीन के खिलाफ भारत का एक और बड़ा कदम, अब चीनी सेना को टक्कर देने के लिए नौसेना लद्दाख भेज रही है अत्याधुनिक और दमदार बोट

संजीवनी टुडे 01-07-2020 14:51:17

मंगलवार भारत और चीन के बीच कॉर्प्स कमांडर-स्तर की तीसरे दौर की बैठक 12 घंटे तक चली और रात के 11 बजे खत्म हुई।


नई दिल्ली। लद्दाख में चीन के साथ चल रहे तनाव के बीच भारत ने बड़ा कदम उठाया है। लद्दाख की पैंगोंग लेक पर गश्‍त बढ़ाने और चीन की गश्‍ती नौकाओं को टक्‍कर देने के लिए भारत वहां बेहद शक्तिशाली नौकाएं तैनात करने जा रहा है। इन नौकाओं में सर्विलांस से संबंधित उपकरण और तकनीक भी मौजूद होगी। 

गौरतलब है कि पैंगोंग लेक में चीन की लेक आर्मी टुकड़ी की टाइप 928बी नौकाएं तैनात हैं। ऐसे में भारत के इस कदम से चीन को कड़ी टक्‍कर मिलेगी। पूर्वी लद्दाख स्थित पैंगोंग त्सो झील पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की आक्रामकता के केंद्र में है। 

Indo-China border dispute

मंगलवार भारत और चीन के बीच कॉर्प्स कमांडर-स्तर की तीसरे दौर की बैठक 12 घंटे तक चली और रात के 11 बजे खत्म हुई। न्यूज एजेंसी एएनआई को भारतीय सेना के सूत्रों को यह जानकारी मिली है। बैठक में भारत ने फिंगर 4 से फिंगर आठ तक के क्षेत्र से चीन को तत्काल पीछे हटने को कहा है।

सूत्रों के मुताबिक भारत की तरफ से गलवान घाटी तथा अन्य क्षेत्रों के साथ-साथ पैंगोंग में फिंगर 4 से फिंगर आठ तक के इलाके से चीनी सेना को तत्काल पीछे हटने को कहा गया है। हालांकि सेना की तरफ से इस के बारे में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है। 

Indo-China border dispute

सूत्रों के अनुसार भारत की तरफ से इस बात को जोरदार तरीके से उठाया गया कि चीन सेना उन इलाकों से तत्काल पीछे हटे जहां हाल में उसने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है ताकि पांच मई से पहले की स्थिति बहाली की जा सके। इनमें पैंगोग लेक इलाके में फिंगर चार से आठ तक से चीनी सेना को तत्काल हटने को कहा गया है। 

भारतीय नौसेना है हाई अलर्ट पर
भारत-चीन वास्तविक नियंत्रण रेखा पर सैनिक तनातनी के बीच हिंद महासागर में भारतीय नौसेना पूरी तरह सावधान है। चीन की हर हरकत पर भारतीय नौसेना की नज़र है। हाई अलर्ट मोड पर भारतीय नौसेना के युद्धपोतों ने चीन की गतिविधियों पर निगरानी बढ़ा दी है।

India-China relations

जापानी सेना के साथ युद्धाभ्यास हुआ
भारतीय नौसेना ने हिंद महासागर क्षेत्र में चीन की नापाक हरकतों को रोकने के लिए अमेरिकी और जापान की नौसेनाओं के साथ सुरक्षा सहयोग को सक्रिय रूप दिया है। इंडियन नेवी ने हाल ही में जापान की नौसेना मैरिटाइम सेल्फ डिफेंस फोर्स के साथ हिंद महासागर में युद्ध अभ्यास की शुरुआत की है। 

भारतीय नौसेना के युद्धपोत आईएनएस राणा और आईएनएस कुलिश चीन के मोर्चे पर सन्नद्ध हैं। इन दोनों ही युद्धपोतों ने जापानी नौसेना के साथ युद्धाभ्यास में हिस्सा लिया। दूसरी तरफ जापान की नौसेना की ओर से जेएस काशिमा और जेएस शिमायुक्ति ने प्रतिनिधित्व किया। खास बात ये है कि ये युद्धाभ्यास ठीक उस स्थान पर हुआ है जहां चीन की घातक पनडुब्बियों और जंगी जहाज़ों को आमतौर पर मंडराते देखा जाता है।

boycott Chinese Products

तीनों सेनाओं की बैठक में लिया गया फैसला
स्टील बोटों को लद्दाख भेजने का फैसला इस हफ्ते तीनों सेनाओं की हुई बैठक में लिया गया। नौसेना को भारी सामानों को ले जाने वाले C-17 वाहनों के जरिए जल्द से जल्द लेह ले जाया जाएगा। बड़ी बोटों को विमानों के जरिए LAC पर पहुंचाने में कई दिक्कतें हैं और सेना और नौसेना साथ मिलकर समाधान निकालने की कोशिश कर रही हैं। नई बोटों के पहुंचने से चीन को सख्त संदेश जाने की उम्मीद है।

चार जगहों पर आमने-सामने हैं भारत और चीन की सेनाएं
बता दें कि LAC पर कम से कम चार जगहों पर भारत और चीन की सेनाएं आमने-सामने हैं। गलवान घाटी, देपसांग और पेंगोंग झील के पास फिंगर्स एरिया में तो चीनी सैनिक भारत की सीमा के अंदर दाखिल हो गए हैं। चीन एक तरफ अपने सेना को पीछे हटाने और सीमा पर शांति बनाए रखने की बात कह रहा है, वहीं दूसरी तरफ सभी इलाकों में अपने सैनिकों की संख्या बढ़ा रहा है।

Indo-China border dispute

चीन के दोहरे रवैये के कारण भारतीय सेनाएं चौंकन्नी
चीन के इसी दोहरे रवैये को देखते हुए भारतीय सेना भी चौंकन्नी है और वह युद्ध जैसी परिस्थितियों के हिसाब से तैयारी कर रही है। सेना ने LAC पर अपने सैनिकों की संख्या बढ़ाई है और चीन के खतरे से निपटने के लिए T-90 टैंक भी LAC पर भेजे हैं। वायुसेना भी अलर्ट पर है और अटैक हेलीकॉप्टर्स और ड्रोन की मदद से चीन पर नजर रखे हुए है। अंडमान से लेकर अरब की खाड़ी तक नौसेना भी मुस्तैद है।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

 

यह खबर भी पढ़े: कोरोनिल दवा को लेकर बाबा रामदेव ने दी बड़ी प्रतिक्रिया, कहा- क्या सिर्फ कोट-टाई वाले ही रिसर्च करेंगे, धोती वाले नहीं कर सकते?

यह खबर भी पढ़े: बहादुरी की मिसाल/सोपोर में गोलियों की बौछार, आतंकियों ने दादा को उतारा मौत के घाट, जवानों ने 3 साल के मासूम को बचाया

 

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended