संजीवनी टुडे

कोलकाता: डॉक्टरों ने कहा- सीएम से बातचीत को तैयार हैं लेकिन जगह वे तय करेंगे

संजीवनी टुडे 16-06-2019 07:52:37

शनिवार देर रात जूनियर डॉक्टरों के संयुक्त फोरम ने संवाददाता सम्मेलन बुलाया और कहा की हम हमेशा से बातचीत के लिए तैयार हैं। अगर मुख्यमंत्री एक हाथ बढ़ाएंगी तो हम हमारे 10 हाथ बढ़ाएंगे.. हम इस गतिरोध के खत्म होने की तत्परता से प्रतीक्षा कर रहे हैं।


नई दिल्ली। कोलकाता समेत राज्यभर में डॉक्टरों की अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी है। इसी बीच शनिवार रात आंदोलन कर रहे डॉक्टरों ने कहा कि वे प्रदर्शन खत्म करने के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से बातचीत को तैयार हैं लेकिन मुलाकात की जगह वे बाद में तय करेंगे। बतादें की इससे पहले शाम में उन्होंने राज्य सचिवालय में बनर्जी के साथ बैठक के प्रस्ताव को ठुकरा दिया था और इसकी बजाए उनसे गतिरोध सुलझाने को लेकर खुली चर्चा के लिए एनआरएस मेडिकल कॉलेज अस्पताल आने को कहा था।

शनिवार देर रात जूनियर डॉक्टरों के संयुक्त फोरम ने संवाददाता सम्मेलन बुलाया और कहा की “हम हमेशा से बातचीत के लिए तैयार हैं। अगर मुख्यमंत्री एक हाथ बढ़ाएंगी तो हम हमारे 10 हाथ बढ़ाएंगे.. हम इस गतिरोध के खत्म होने की तत्परता से प्रतीक्षा कर रहे हैं।” प्रदर्शनरत डॉक्टरों ने कहा कि वे बैठक के लिए प्रस्तावित स्थान को लेकर अपने संगठन के फैसले का इंतजार करेंगे। 

उल्लेखनीय है कि 10 जून की रात नीलरतन सरकार (एनआरएस) अस्पताल में 75 वर्षीय मरीज मोहम्मद शाहिद के निधन के बाद लापरवाही का आरोप लगाते हुए करीब 200 लोगों ने जूनियर डॉक्टरों की निर्मम तरीके से पिटाई की थी। इसमें तीन डॉक्टर गंभीर रूप से घायल हो गए थे। इस घटना के विरोध में राज्यभर के डॉक्टर हड़ताल पर चले गए हैं। कोलकाता समेत राज्यभर के सरकारी अस्पतालों के करीब एक हजार सीनियर डॉक्टरों ने इस्तीफा दिया है। इस कारण से विगत पांच दिनों से लाखों लोग राज्य के विभिन्न हिस्से से कोलकाता और अन्य अस्पतालों में इलाज के लिए आ रहे हैं, लेकिन हड़ताल की वजह से दर-दर भटक रहे हैं।

उधर भाजपा ने आरोप लगाया है कि डॉक्टरों पर हमला करने वाले आरोपित मुस्लिम समुदाय से हैं और ममता उन्हें बचाने की कोशिश कर रही है। ममता ने गुरुवार को डॉक्टरों से चार घंटे के अंदर हड़ताल खत्म कर काम पर लौटने की अपील की थी। उन्होंने कहा था कि ऐसा नहीं हुआ तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

 

डॉक्टरों की छह शर्तें
1- मुख्यमंत्री ममता बनर्जी डॉक्टरों को लेकर दिए गए बयान पर बिना शर्त माफी मांगें।
2- पुलिस की निष्क्रियता की जांच हो।
3- अस्पतालों में सशस्त्र पुलिसकर्मियों की तैनाती की जाए।
4- डॉक्टरों पर हमला करने वालों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।
5- जूनियर डॉक्टरों और मेडिकल छात्रों पर लगाए गए झूठे आरोप वापस लिये जाएं।
6- डॉक्टरों पर हुए हमले की निंदा करते हुए एक बयान जारी करना चाहिए।

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From national

Trending Now
Recommended