संजीवनी टुडे

हरियाणा में खालिस्तानी गुरपतवंत पन्नू के रैफरंडम-2020 की वोटिंग रही शून्य

संजीवनी टुडे 11-07-2020 16:54:11

खालिस्तानी गुरपतवंत सिंह पन्नू के रैफरंडम-2020 को हरियाणा में समर्थन नहीं मिला। रैफरंडम-2020 के पक्ष में हरियाणा से वोटिंग शून्य रही।


चंडीगढ़/कुरुक्षेत्र। खालिस्तानी गुरपतवंत सिंह पन्नू के रैफरंडम-2020 को हरियाणा में समर्थन नहीं मिला। रैफरंडम-2020 के पक्ष में हरियाणा से वोटिंग शून्य रही। खालिस्तान के नाम पर कोई भी सिख छठी पातशाही के आसपास भी नहीं फटका। गुरुद्वारे में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी रही और पुलिस पूरी तरह चौकस रही। सादी वर्दी में पुलिस कर्मी गुरुद्वारे में तैनात रहे तो खुद पुलिस अधीक्षक आस्था मोदी ने हर गतिविधि की जानकारी ली। प्रशासन की ओर से एतियात के तौर पर गुरुद्वारे में धारा-144 लगाई गई थी। मगर किसी भी श्रद्धालु को गुरुघर में जाने से रोका नहीं गया। श्रद्धालुओं ने हर दिन की तरह नियमित रूप से गुरुग्रंथ साहिब के समक्ष शीश नवाया।  

हरियाणा में रैफरंडम-2020 को लेकर खालिस्तानी गुरपतवंत सिंह पन्नू ने मुहिम शुरू की थी। पिछले 15 दिनों से विदेश से फोन कॉल के जरिये सिख संगत को रैफरंडम के लिए वोटिंग करने को उकसाया जा रहा था। पिछले कई दिनों से पन्नू की ओर से 11 जुलाई यानि शनिवार को छठी पातशाही गुरुद्वारा में अरदास कर रैफरंडम के पक्ष में वोटिंग करने का अल्टीमेटम करते हुए ऑडियो जारी किया था। 
इस ऑडियो के बाद प्रशासन सतर्क हुआ और छठी पातशाही पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई। गुरुद्वारा छठी पातशाही के नजदीक अंबेडकर चौक व देवीलाल चौक पर नाका लगाकर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई। यही नहीं मामले की गंभीरता को देखते हुए गुरुद्वारा के साथ लगते सिख मिशन में कमरा भी किराये पर नहीं दिया जा रहा है। 

गुरुद्वारा छठी पातशाही मैनेजर अमरेंद्र सिंह का कहना है कि सिख फॉर जस्टिस की ओर से कार्यक्रम का आयोजन मात्र अफवाह था। शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की ओर से भविष्य में भी किसी भी ऐसे कार्यक्रम का समर्थित नहीं है। सिख संगत से भी अपील की गई है कि ऐसे अफवाहों से बचें।

पुलिस अधीक्षक आस्था मोदी के मुताबिक ऑडियो मैसेज के बाद पुलिस पूरी तरह सतर्क है। पुलिस हर स्थिति पर नजर बनाए हुए है। गुरुद्वारे में शांतिपूर्ण तरीके नियमित तौर पर हर गतिविधि जारी है। 

पंजाब से आने वाले रास्तों पर की गई नाकाबंदी 
खालिस्तानी गुरपतवंत सिंह पन्नू के रैफरंडम-2020 को लेकर वोटिंग का अल्टीमेटम दिया गया था। इस अल्टीमेटम के बाद पुलिस पूरी तरह अलर्ट हो गई। पंजाब से आने वाले रास्तों पर नाकाबंदी की गई। पंजाब से आने वाले हर वाहन की जांच की गई तो गुरुद्वारे के आसपास नाकाबंदी कर हर गतिविधि पर नजर रखी गई। अल्टीमेटम के बाद गुरुद्वारे की सुरक्षा में तीन रिजर्व से लेकर सीए-1 व 2 तथा शहर थाना, केयूके व सदर थाना प्रभारियों को तैनात किया गया है, जिन्होंने हर गतविधि की जानकारी पुलिस अधीक्षक को दी।

यह खबर भी पढ़े: विकास दुबे एनकाउंटर का मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट

यह खबर भी पढ़े: मुख्यमंत्री गहलोत का भाजपा पर सरकार गिराने के षड़यंत्र का आरोप

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended