संजीवनी टुडे

करतारपुर गलियारा : रविवार को भारत -पाक अधिकारी स्तर की बैठक में हो सकते हैं खास निर्णय

संजीवनी टुडे 12-07-2019 21:57:52

करतारपुर गलियारा के निर्माण का कार्य भारत सरकार 31 अक्टूबर तक मुकम्मल करने के प्रयास में है। इसी वर्ष 12 नवंबर को पाकिस्तान स्थित गुरद्वारा करतारपुर साहिब में बड़ा समारोह किया जाना है।


गुरदासपुर। करतारपुर गलियारा के निर्माण का कार्य भारत सरकार 31 अक्टूबर तक मुकम्मल करने के प्रयास में है। इसी वर्ष 12 नवंबर को पाकिस्तान स्थित गुरद्वारा करतारपुर साहिब में बड़ा समारोह किया जाना है। इस सिलसिले में 14 जुलाई को दोनों देशों के अधिकारियों के मध्य वाघा (अमृतसर) में बैठक होगी। इसमें निर्माण कार्यों में प्रगति, प्रबंध, यात्रियों की संख्या, उनकी सुरक्षा, आधारभूत ढांचा पर चर्चा के साथ-साथ पाकिस्तान द्वारा करतारपुर कमेटी में खालिस्तान समर्थक गोपाल सिंह चावला को रखे जाने पर भारत अपना विरोध जताएगा।करतारपुर गलियारा को लेकर अभी तक अधिकारी स्तर की एक ही बैठक हो सकी है और दूसरी बैठक पाकिस्तान के रवैये को लेकर रद्द कर दी गई थी। हालांकि तकनीकी स्तर की दो बैठकें हो चुकी हैं। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार रविवार को प्रस्तावित बैठक सुबह 9 बजे प्रारम्भ होगी और अपराह्न एक बजे तक चलेगी। भारतीय शिष्टमंडल का नेतृत्व गृह विभाग के आंतरिक सुरक्षा के संयुक्त सचिव एससीएल दास और पाकिस्तान शिष्टमंडल का नेतृत्व डायरेक्टर जनरल (सार्क) डा. मोहम्मद फैजल करेंगे। हालांकि दोनों देशों की सीमा के मध्य बनने वाले गलियारे के लिए भारत ने राह में आती रावी नदी पर फ्लाईओवर की बात पहले भी की थी और इस बार भी एजेंडे में यह मुद्दा शामिल है। 

करतारपुर जाने वाले तीर्थ यात्रियों की संख्या का मामला 14 मार्च को हुई अधिकारी स्तर की बैठक में उठाया गया था।  भारत चाहता है कि प्रतिदिन भारत से 5000 तीर्थ यात्री और विशेष दिवस पर 10,000 तीर्थ यात्रियों को पाकिस्तान जाने की अनुमति मिले परन्तु पाकिस्तान सिर्फ 700 तीर्थ यात्रियों को ही पाक में प्रवेश देने की अनुमति की बात पर अड़ा है।  इन मुद्दों के बीच करतारपुर गलियारा का निर्माण कार्य दोनों तरफ जारी है। भारत अपनी तरफ  500 करोड़ की लागत से शानदार बस टर्मिनल और चार-लेन मार्ग का निर्माण कर रहा है, जिसका 60 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका है। इस कार्य पर तीन पालियों में  कार्य चल रहा है। गलियारा भारत के गुरदासपुर जिला के डेरा बाबा नानक स्थित गुरद्वारा साहिब और पाकिस्तान के करतारपुर साहिब में स्थित गुरद्वारा दरबार साहिब को जोड़ेगा, जहाँ पर सिख पंथ के प्रथम गुरु श्री गुरु नानक देव जी ने अपनी जिंदगी के 18  वर्ष गुजारे थे। 

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From national

Trending Now
Recommended