संजीवनी टुडे

कर्नाटक: अपराधों के लिए चर्चित बेलगावी विधायक जारकीहोली की धमकी के बाद फिर सुर्खियों में

संजीवनी टुडे 25-04-2019 18:51:46


बेलगावी। महाराष्ट्र की सीमा से सटे और गोवा के पास होने के अलावा कई कारणों के लिए प्रसिद्ध बेलगावी जिला में अगर आप लोकतंत्र और नागरिक अधिकारों के बारे में बात करना चाहते हैं तो यहां खौफ का असर साफ़ दिखता है। पूर्व जिला प्रभारी मंत्री और गोकाक से कांग्रेस के विधायक रमेश जारकीहोली के भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने की धमकी के बाद यह जिला फिर से सुर्खियों में है। यह पहली बार नहीं है कि असंतुष्ट कांग्रेस विधायक रमेश जारकीहोली ने भाजपा में जाने की धमकी दी है।

जानकार बताते हैं कि पिछले दिनों उनके कांग्रेस से बागी होने के बाद कुछ कांग्रेस विधायकों के साथ मुंबई के एक पांच सितारा होटल में डेरा डाले हुए थे, जो भाजपा के 'ऑपरेशन कमल' की रणनीति की हिस्सा था। हालांकि, राज्य की जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन वाली सरकार ने उस रणनीति को फेल कर आसन्न खतरे से बचने में कामयाबी पा ली थी। मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने खुद राज्य की बागडोर संभालने के बाद घोषणा की थी कि वह वास्तव में नहीं जानते कि यह सरकार अपना पूरा कार्यकाल पूरा करेगी या नहीं। अब जबकि संसदीय चुनाव खत्म हो गए हैं और रमेश जारकीहोली के ताजा बयानों ने राजनीतिक सरगर्मी फिर शुरू कर दी है। यदि अब गठबंधन सरकार का पतन हो जाए तो यह कोई बड़ा आश्चर्य नहीं होना चाहिए। लोकसभा चुनाव से पहले गठबंधन सरकार के गिरने और गिराने की जो फुसफुसाहट हो रही थी, अब राजनीतिक हलकों में वह फिर तेज हो रही है। मुमकिन है कि बदलते हालातों में यह गठबंधन सरकार का भविष्य अधिक दिन का न होे।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

 

बेलगावी, यहां का इतिहास वस्तुतः अद्भुत है क्योंकि यह भूमि संगोली रायन्ना, कित्तूर रानी चेन्नम्मा, बेलवाड़ी मल्लम्मा जैसे योद्धाओं के लिए प्रसिद्ध है। इन सभी ने शहीद होने से पहले अंग्रेजों को नाको चने चबवा दिए थे। यदि रानी चेन्नम्मा कित्तूर राज्य की रानी थीं, तो संगोल्ली रायन्ना उनकी सेना और उनकी सैन्य सफलता के पीछे खड़े रहने वाले व्यक्ति थे। बेलवाड़ी मल्लम्मा को सभी महिलाओं की सेना बनाने का अनूठा गौरव हासिल है, जो इतिहास के पन्नों में शायद ही कोई दूसरा हो। अंग्रेजों के खिलाफ लड़ते हुए अनेक वीर हस्तियों ने अपने प्राणों की आहुति दी थी। शायद बहादुरी और देशद्रोही बनने के गुण यहां के लोगों की जीवनशैली में अंतर्निहित हैं। स्वतंत्रता संग्राम के दौरान भी स्थानीय लोगों की वीरता बहुत बड़े पैमाने पर जारी रही, क्योंकि जिले में बड़ी संख्या में बड़ी हस्तियों ने भाग लिया था। इसी तरह कई खादी और ग्रामोद्योग, गांधीवादी आंदोलन का हिस्सा बने हुए हैं। 

यह जिला मानवीय संबंधों के साथ हाल ही में राज्य में सबसे ज्यादा हत्याओं के लिए चर्चा में रहा। गोकाक और बैलहोंगल तालुक अपराध की सूची में सबसे ऊपर रहे और इनमें से अधिकांश अपराध भूमि, संपत्ति और सेक्स के लिए हुए। भारत के 72 साल बाद भी बेलगावी के लोग खुले तौर पर अपनी राय व्यक्त करने से डरते हैं। जिले के लोग राजनीतिक रूप से प्रभावी परिवारों के खौफ के साये में जीने को मजबूर रहे हैं। स्व. वसंतराव पाटिल तब तक आतंकित रहे, जब तक उन्होंने कांग्रेस, पुरानी कांग्रेस और जनता पार्टी के साथ अपनी राजनीतिक पारी का आनंद लिया। पूर्व मंत्री और भाजपा नेता उमेश कट्टी और प्रकाश हुक्केरी चिक्कोडी कांग्रेस के सांसद अमीर परिवारों से हैं और जिला राजनीति से काफी जुड़े हुए हैं। इसी तरह जारकीहोली भाई हैं। रमेश अपने पिता की पहली पत्नी के पुत्र हैं, जबकि सतीश, बालचंद्र, भीमशी और लखन दूसरी पत्नी के बेटे हैं। रमेश गोकाक कांग्रेस के विधायक हैं, जबकि भीमशी ने 2008 के विधानसभा चुनावों में उनके खिलाफ भाजपा के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ा था लेकिन अब कांग्रेस के साथ हैं।

MUST WATCH & SUBSCRIBE

बालाचंद्र भारतीय जनता पार्टी के अरभावी से विधायक होने के साथ पूर्व मंत्री हैं। राजनीति में आने के बाद से रमेश कांग्रेसी रहे हैं तो सतीश और बालचंद्र ने जनता परिवार से कांग्रेस और भाजपा का दामन थामा है। अब रमेश ने अपने छोटे भाई वन और जिला प्रभारी मंत्री सतीश को चुनौती दी है। जारकीहोली बंधु राजनीतिक ड्रामा रचने के लिए जाने जाते हैं। वे राज्य में सत्ता की बागडोर नहीं संभालने के बावजूद सत्ता का आनंद लेते हैं और वर्तमान उपद्रव सिर्फ सत्ता से चिपके रहने के लिए खेला गया कार्ड रहा है, क्योंकि वे सभी एक परिवार के रूप में एकजुट रहते हैं।

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended