संजीवनी टुडे

पुन: मध्यस्थता की मांग पर कलीफुल्ला समिति का सुप्रीम कोर्ट में ज्ञापन

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 16-09-2019 21:43:12

उच्चतम न्यायालय की ओर से पूर्व में गठित मध्यस्थता समिति ने विवाद के निपटारे के लिए फिर से मध्यस्थता शुरू करने की मांग पर विचार के लिए न्यायालय को एक ज्ञापन दिया है।


नई दिल्ली। अयोध्या विवाद के हल के लिए उच्चतम न्यायालय की ओर से पूर्व में गठित मध्यस्थता समिति ने विवाद के निपटारे के लिए फिर से मध्यस्थता शुरू करने की मांग पर विचार के लिए न्यायालय को एक ज्ञापन दिया है। समिति ने न्यायालय को भेजे संक्षिप्त ज्ञापन में कहा है कि निर्वाणी अखाड़ा और सुन्नी वक्फ बोर्ड ने उनसे पत्र लिखकर मध्यस्थता पुन: शुरू करने का अनुरोध किया है।

यह खबर भी पढ़ें: ​धवन ने की भ्रम फैलाने की शिकायत, सुप्रीम कोर्ट ने नहीं दी तवज्जो

सूत्रों ने आज बताया कि उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश फकीर मोहम्मद इब्राहीम कलीफुल्ला की अध्यक्षता वाली समिति ने संविधान पीठ से इस पर निर्देश जारी करने का अनुरोध किया है।

सूत्रों के अनुसार, दोनों पक्षों ने समिति को लिखे पत्र में कहा है कि अदालत में सुनवाई जारी रहे और मध्यस्थता के लिए एक बार फिर से कोशिश की जानी चाहिए। इन पक्षकारों का कहना है कि मध्यस्थता की प्रक्रिया वहीं से शुरू की जानी चाहिए, जहां गत 29 जुलाई को समाप्त हुई थी। वहीं अन्य पक्षकारों ने इसका विरोध किया है।

हिन्दू महासभा के वकील विष्णु जैन ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि यह न्यायिक प्रक्रिया को भटकाने की साजिश है। अब जब इस विवाद की 60 प्रतिशत सुनवाई पूरी हो गयी है, तो इस तरह की कवायद मुकदमे में अवरोध पैदा करने के अलावा कुछ और नहीं है।

गौरतलब है कि न्यायालय ने गत दो अगस्त को समिति की मध्यस्थता प्रक्रिया को असफल करार देते हुए गत छह अगस्त से इस मामले में रोजाना सुनवाई शुरू की थी। आज 24 वें दिन की सुनवाई पूरी हो चुकी है, जिसमें 16वें दिन हिन्दू पक्ष ने अपनी जिरह पूरी की थी और सुन्नी वक्फ बोर्ड ने आज आठवें दिन जिरह पूरी की है।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From national

Trending Now
Recommended