संजीवनी टुडे

जामिया मिलिया: डीसीपी-एसीपी समेत कई अधिकारी हुए घायल, एक हेड कॉन्सटेबल ICU में भर्ती

संजीवनी टुडे 16-12-2019 12:02:25

जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के बाहर एक बार फिर विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया है। रविवार को दिल्ली पुलिस की बर्बरता के खिलाफ छात्र शर्ट निकालकर विश्विद्यालय के गेट पर धरने पर बैठ गए हैं। छात्रों की मांग है कि पुलिस के खिलाफ कार्रवाई की जाए।


नई दिल्ली। जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के बाहर एक बार फिर विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया है। रविवार को दिल्ली पुलिस की बर्बरता के खिलाफ छात्र शर्ट निकालकर विश्विद्यालय के गेट पर धरने पर बैठ गए हैं। छात्रों की मांग है कि पुलिस के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

नागरिकता संशोधन कानून सावरकर के सिद्धांतों के खिलाफ: ठाकरे

रविवार को नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ जामिया नगर में हुई हिंसा में कई पुलिसवालों के घायल होने की खबर है। दिल्ली पुलिस के मुताबिक जामिया नगर में हुए हिंसक प्रदर्शन में डीसीपी साउथ ईस्ट, एडिश्नल डीसीपी साउथ, 2 एसीपी, 5 एसएचओ, इंस्पेक्टर और कई  पुलिसकर्मी घायल हुए हैं. घायलों में शामिल हेड कॉन्सटेबल मकसूल हसन अहमद को सिर में गंभीर चोट लगी है, जिसके चलते उन्हें आईसीयू में एडमिट कराया गया है। वहीं पुलिस ने बताया कि कालकाजी थाने में हिरासत में रखे गए 35 छात्रों को रिहा कर दिया गया है। वहीं दूसरी तरफ दिल्ली पुलिस ने जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी परिसर में रविवार को प्रवेश करने की रिपोर्ट से इनकार किया है। जामिया इलाके में हिंसक विरोध प्रदर्शन में अनेक लोग घायल हो गए और कई वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया।

जामिया और एएमयू मामले में सुप्रीम कोर्ट से वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह ने संज्ञान लेने की अपील की
मुख्य न्यायाधीश एसए बोबडे की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह ने जामिया मिलिया इस्लामिया और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की घटनाओं का उल्लेख किया। जयसिंह ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि वह इस मुद्दे पर संज्ञान ले।

लखनऊ: दारुल उलूम नदवतुल यूनिवर्सिटी के गेट को पुलिस ने बंद किया

लखनऊ के दारुल उलूम नदवतुल यूनिवर्सिटी में छात्रों का प्रदर्शन, बड़ी संख्या में पुलिस मौके पर मौजूद
लखनऊ के दारुल उलूम नदवतुल यूनिवर्सिटी में छात्रों ने विरोध-प्रदर्शन शुरू कर दिया है। जामिया और एएमयू के छात्रों पर पुलिस द्वारा की गई बर्बरता के खिलाफ छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं। छात्रों और पुलिस के बीच झड़प हुई है। पथराव की भी खबर है।

जामिया और AMU में पुलिस की बर्बरता का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंचा, कोर्ट कल सुनवाई के लिए तैयार
जामिया मिलिया इस्लामिया और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय मामले में सुनवाई के लिए सुप्रीम कोर्ट तैयार हो गया है। कल इस मामले में सुप्रीम कोर्ट सुनवाई करेगा। वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह ने अपील की थी कि कोर्ट इस मामले में संज्ञान ले। इंदिरा जयसिंह ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि मानवाधिकारों का उल्लंघन हो रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हिंसा बंद होनी चाहिए। कोर्ट ने कहा कि सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान किया जाना बंद होना चाहिए। कोर्ट ने यह भी कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि सभी छात्रों को मेडिकल सुविधा मिले।

जामिया मामले में दिल्ली हाई कोर्ट ने तत्काल सुनवाई से किया इनकार
जामिया मिलिया इस्लामिया में छात्रों पर पुलिस द्वारा की गई बर्बरता के खिलाफ दायर याचिक पर दिल्ली हाई कोर्ट ने तत्काल सुनवाई से इनकार कर दिया है।

यूपी के पांच जिलो में इंटरनेट सेवा पर रोक
नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ रविवार को प्रदर्शन के दौरान जमिया और एएमयू में छात्रों पर हुई बर्बरता के बाद पुलिस अलर्ट पर है। यूपी के पांच जिलों में इंटरनेट सेवा पर रोक लगा दी गई है। यूपी के जिन पांच जिलों में इंटरनेट सेवा पर रोक लगाई गई है, उनमें अलीगढ़, कासगंज, मेरठ, सहारनपुर और बरेली शामिल है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From national

Trending Now
Recommended