संजीवनी टुडे

J & K: राज्यपाल एनएन वोहरा का कार्यकाल बढ़ा, 25 जून को होना था पूरा

संजीवनी टुडे 19-06-2018 16:19:19


जम्मू-कश्मीर। भारतीय जनता पार्टी ने जम्मू-कश्मीर सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया है। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने आज ही दिल्ली में राज्य के सभी बड़े पार्टी नेताओं के साथ बैठक की, जिसके बाद बीजेपी ने समर्थन वापस लेने का फैसला किया है। महबूबा मुफ्ती ने बीजेपी के ऐलान के बाद राज्यपाल एनएन वोहरा को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। शाम चार बजे पीडीपी की बैठक बुलाई गई है। BJP कोटे के सभी मंत्रियों ने अपना इस्तीफा सौंप दिया है। बीजेपी राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग कर रही है। इस बिच राज्यपाल एनएन वोहरा का कार्यकाल बढ़ा दिया गया है। बता दे राज्यपाल का कार्यकाल 25 जून को पूरा होने वाला था। 

मुख्यत: देखें तो राज्य में कानून-व्यवस्था की बिगड़ती हालत की वजह से पार्टी ने यह निर्णय लिया। पीडीपी चाहती थी कि सीजफायर को आगे बढ़ाया जाए और हुर्रियत से बातचीत हो। लेकिन बीजेपी का केंद्रीय नेतृत्व इससे सहमत नहीं था। बीजेपी महासचिव राम माधव ने इसकी जानकारी देते हुए कहा, 'पीडीपी के इरादों पर सवाल नहीं है, लेकिन राज्य सरकार विफल रही है। जम्मू और लद्दाख के विकास में बीजेपी के मंत्रियों को अड़चनें आती रहीं। कई विभागों में काम के लिहाज से जम्मू और लद्दाख के साथ भेदभाव जनता महसूस करती रही। 

उन्होंने कहा, देश की अखंडता और सुरक्षा के व्यापक हितों को देखते हुए, कश्मीर को देश का अखंड हिस्सा मानते हुए बीजेपी ने यह निर्णय लिया है और राज्य में गवर्नर का शासन लाकर परिस्थिति में सुधार किया जाए। उन्होंने कहा कि कश्मीर में जो परिस्थ‍ति बनी उसका आकलन पार्टी ने किया। गृह मंत्रालय, तमाम एजेंसियों से आवश्यक इनपुट लेने के बाद बीजेपी ने यह निर्णय लिया. बीजेपी के लिए इस गठबंधन में आगे चलना संभव नहीं था। पार्टी ने प्रदेश नेतृत्व और राज्य सरकार के मंत्रियों से भी यह चर्चा की। 

जयपुर में प्लॉट मात्र 2.40 लाख में call: 09314166166

MUST WATCH

गौरतलब है कि तीन साल पहले यह सरकार बनी थी, उस समय खंडित जनादेश था। जम्मू इलाके में बीजेपी तो कश्मीर घाटी में ज्यादातर सीटें पीडीपी को मिली थीं। चार महीने की कवायद के बाद दोनों दलों ने एक कॉमन मिनिमम प्रोग्राम बनाकर सरकार बनाया था। 

More From national

Loading...
Trending Now
Recommended