संजीवनी टुडे

भारतीय विदेश मंत्री का चीन दौरा, जानिए क्या हुई बात?

वार्ता

संजीवनी टुडे 13-08-2019 09:47:04

कश्मीर मामले में पर डा. जयशंकर ने जोर देते हुए कहा- कश्मीर मामला भारतीय सविधान में एक अस्थायी प्रावधान को हटाने को लेकर है जिसका अधिकार केवल भारत के पास है।


नई दिल्ली। चीन ने भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ने की वजह कश्मीर को लेकर किये गए फैसले को बताया जिस पर विदेश मंत्री ने जवाब देते हुए कहा कि यह भारत का आतंरिक मामला है तथा इसका पाकिस्तान से कोई लेना-देना नहीं है।

कश्मीर मामले में पर डा. जयशंकर ने जोर देते हुए कहा, “कश्मीर मामला भारतीय सविधान में एक अस्थायी प्रावधान को हटाने को लेकर है जिसका अधिकार केवल भारत के पास है।”

संस्कृति तथा लोगों के अदान-प्रदान को लेकर भारत और चीन के बीच दूसरी उच्च स्तरीय बैठक में डा. जयशंकर ने कहा कि भारत एक ‘जिम्मेदार देश’ है और भारत ने पाकिस्तान की उत्तेजित ‘बयानबाजी और हरकतों ’ पर संयम दिखाया है। गौरतलब है कि डॉ जयशंकर चीन की तीन दिन की यात्रा पर रविवार को बीजिंग पहुंचे।

बयान में कहा गया, “भारत हमेशा आतंक से मुक्त माहौल में संबंधों को सामान्य बनाने के लिए खड़ा हुआ है।” विदेश मंत्री ने भारत और चीन की सीमा के सवाल पर कहा, “भारत और चीन 2005 में राजनतिक तथा मार्गदर्शक सिद्धांतो के आधार पर सीमा समाधान के लिए निष्पक्ष, उचित और आपसी सहमति से निर्णय लेने के लिए सहमत हुए थे।”

डा. जयशंकर 2009 से लेकर 2013 ताल चीन में भारत के दूत के तौर पर भी काम कर चुके है। उन्होंने चीनी समकक्ष को स्पष्ट करते हुए बताया कि भारत ने अनुच्छेद 370 को हटाया है जो कि जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देता था तथा ‘इसका एलएसी पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।’

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

 

उन्होंने कहा, “ जहां तक भारत और पाकिस्तान के रिश्तों का सवाल है तो चीनी पक्ष को वास्तविकताओं को आकलन का आधार बनाना चाहिए।” उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा यह कदम क्षेत्र में बेहतर शासन और सामाजिक-आर्थिक विकास को ध्यान में रख कर लिया गया है। 

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From national

Trending Now
Recommended