संजीवनी टुडे

भारत, नीदरलैंड ने की सीवेज उपचार के लिए लोटस-एचआर के दूसरे चरण की शुरुआत

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 15-10-2019 11:31:16

भारत और नीदरलैंड ने सोमवार को संयुक्त रूप से पुन: स्वस्थ इस्तेमाल के लिए मलजल नालों का स्थानीय उपचार कार्यक्रम के दूसरे चरण की शुरुआत की।


नई दिल्ली। भारत और नीदरलैंड ने सोमवार को संयुक्त रूप से पुन: स्वस्थ इस्तेमाल के लिए मलजल नालों का स्थानीय उपचार ( लोकल ट्रीटमेंट ऑफ अर्बन सीवेज स्ट्रीम्स फॉर हेल्दी रीयूज ) कार्यक्रम के दूसरे चरण की शुरुआत की।

नीदरलैंड की शाही दंपति विलियम-अलेक्जेंडर तथा मैक्सिमा और केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री हर्षवर्धन ने इसका शुभारंभ आज यहां बारापूला नाले में स्थित जल प्रयोगशाला में की।

यह खबर भी पढ़े: बाबासाहब आंबेडकर ने मरने से पहले किया था धर्म परिवर्तन, मैं भी करूंगी: मायावती

इस मौके पर डॉ. हर्षवर्धन ने कहा, “आज हम ‘सीवेज वाटर’ के दूसरे चरण में प्रवेश कर रहे हैं, जहां प्रतिदिन 10 हजार लीटर सीवेज वाटर उपचार किया जायेगा । नीदरलैंड तथा भारतीय कंपनियां इस परियोजना में अपने अनुभवों को साझा कर रही हैं। इसके जरिये यह दिखाया जायेगा कि शहरी अपशिष्ट जल को विभिन्न प्रयोजनों के लिए किस तरह से साफ पानी के रूप में व्यवहार लाया जा सकता है। हम इस प्रक्रिया का देश की अन्य परियोजनाओं का अनुसरण करने की प्रक्रिया में हैं।”

उल्लेखनीय है कि लोटस -एचआर को जुलाई 2017 में शुरू किया गया था और इसका उद्देश्य एक अद्भुत समग्र अपशिष्ट जल प्रबंधन दृष्टिकोण प्रदर्शित करना है जो ऐसे स्वच्छ पानी का उत्पादन करेगा, जिसका विभिन्न प्रयोजनों के लिए पुन: उपयोग किया जा सकता है।

मात्र 13.21 लाख में अपने ख़ुद के मकान का  सपना करें साकार, सांगानेर जयपुर में बना हुआ मकान कॉल - 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From national

Trending Now
Recommended