संजीवनी टुडे

आयुर्वेदिक डॉक्टरों को सर्जरी करने के फैसले का IMA ने किया विरोध, कहा, CCIM का फैसला सही नहीं

संजीवनी टुडे 24-11-2020 20:56:11

आईएमए ने सेंट्रल काउंसिल ऑफ इंडियन मेडिसिन (सीसीआईएम) के आयुर्वेदिक डॉक्टरों को सर्जरी करने देने के फैसले को एकतरफा औऱ गलत बताया है।


नई दिल्ली। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने सेंट्रल काउंसिल ऑफ इंडियन मेडिसिन (सीसीआईएम) के आयुर्वेदिक डॉक्टरों को सर्जरी करने देने के फैसले को एकतरफा औऱ गलत बताया है। मंगलवार को प्रेसवर्ता में आईएमए ने सीसीआईएम के फैसले को वापस लेने की मांग की। आयुर्वेदिक डॉक्टरों को सर्जरी के अयोग्य बताते हुए आईएमए ने सीसीआईएम की कड़ी आलोचना की है।

आईएमए के अध्यक्ष डॉ. राजन शर्मा ने कहा कि काउंसिल को प्राचीन ज्ञान के आधार पर सर्जरी करने का अपना तरीका इजाद करे और उसमें आधुनिक चिकित्सा शास्त्र पर आधारित प्रक्रिया से बिल्कुल दूर रहें। उन्होंने कहा कि सीसीआईएम की तरफ से जारी नोटिफिकेशन में कहा गया है कि पोस्ट ग्रैजुएट कोर्स में शैल्य तंत्र को शामिल किया गया है जिसका अर्थ होता है सर्जरी, जो आधुनिक चिकित्सा की परीधि में आता है।

आईएमए ने कहा कि आयुष मंत्रालय ने इस बारे में सफाई भी दी है लेकिन दो विधाओं का घालमेल करने में सीसीआईएम जुटी हुई है, जो गलत है। आधुनिक चिकित्सा शास्त्र के डॉक्टरों की पोस्टिंग भारतीय चिकित्सा के कॉलेजों में नहीं करें।

आईएमए ने सरकार से अपील करने के साथ-साथ अपने सदस्यों और बिरादरी के लोगों को भी चेतावनी दी है कि वो किसी दूसरी चिकित्सा पद्धति के विद्यार्थियों को आधुनिक चिकित्सा पद्धति की शिक्षा न दें। आईएमए ने कहा, 'वो विभिन्न पद्धतियों के घालमेल को रोकने का हरसंभव प्रयास करेगा।' उसने कहा, 'हरेक सिस्टम को अपने दम पर बढ़ने दिया जाए।'

यह खबर भी पढ़े: लव जिहाद: यूपी में धोखे से धर्म बदलवाने पर 10 साल तक होगी सजा, अध्यादेश पारित

यह खबर भी पढ़े: केंद्र सरकार ने एक बार फिर 43 चीनी मोबाइल एप पर लगाई रोक, सुरक्षा-संप्रभुता के लिए बताया खतरा

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended