संजीवनी टुडे

आप ई-वे बिल पर रजिस्ट्रेशन करवा रहें तो जाने पूरी प्रक्रिया

संजीवनी टुडे 23-01-2018 15:34:33

If you continue to register on ebill the whole process

नई दिल्ली।  सरकार एक फरवरी से ई-वे बिल लागू करने जा रही है। ऐसे में कारोबारियों में ई-वे बिल को लेकर कई सारे कन्फ्यूजन बने हुए हैं। आपको पूरी जानकारी नीचे दी जा रही है-  ई-वे बिल जनरेट कैसे किया जाए और किन बातों का ध्यान रखा जाए। 

ई-वे बिल के लिए रजिस्ट्रेशन करना होगा जरूरी
जिन कारोबारियों के पास जीएसटी पोर्टल का रजिस्ट्रेश आईडी और पासवर्ड वह उससे ई-वे बिल पर रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। ज्यादातर ट्रेडर्स को लग रहा है कि जीएसटी पोर्टल के रजिस्ट्रेशन से ही ई-वे बिल बन जाएगा लेकिन ऐसा नहीं है। ई-वे बिल बनाने की वेबसाइट जीएसटी पोर्टल से अलग है। जीएसटी पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन के बावूजद ई-वे बिल की वेबसाइट पर दुबारा रजिस्ट्रेशन कराना होगा। 

यह भी पढ़े: प्रचार के अंतिम दिन सी-प्लेन से अंबाजी मंदिर गए PM मोदी, देखें वीडियो

कैसे होगा रजिस्ट्रेशन
एक बार रजिस्ट्रेशन करने के बाद आपका यूजरनेम और पासवर्ड बन जाएगा जिससे आपको ई-वे बिल बनाने के लिए लॉग इन करना होगा। ट्रांसपोर्टर्स, वेयर हाउस ओनर, गोदाम और कोल्ड स्टोरेज हाउस मालिकों को रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य है। उनका टर्नओवर तय लिमिट से कम होने के बावजूद उन्हें ई-वे बिल की वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करना होगा। कारोबारियों को www.ewaybill.nic.in पर रजिस्ट्रेशन करना होगा। अगर जीएसटी रजिस्ट्रेशन नंबर नहीं है तो पैन कार्ड नंबर से रजिस्ट्रेशन हो जाएगा। 

ई-वे बिल बनाने की पूरी प्रक्रिया जान लें
वेबसाइट पर ई-वे बिल के अलग-अलग फॉर्म है जो प्रोडक्ट की संख्या और कीमत पर निर्भर करती है। यानी अगर एक ई-वे बिल बनता है तो एक फॉर्म भरना होगा। कन्सॉलिडेटेड ई-वे बिल बनाने के लिए अलग फॉर्म भरना होगा। ई-वे बिल की वेबसाइट पर छह तरह के ई-वे बिल हैं। कन्सॉलिडेटेड ई-वे बिल में एक ही व्हीकल में अलग-अलग डीलर्स, प्रोडक्ट का सामान भेजने पर कन्सॉलिडेटेड ई-वे बिल बनेगा। ये कन्सॉलिडेटेड ई-वे बिल ज्यादातर ट्रांसपोर्टर्स को भरना होगा। ट्रांसपोर्टर्स अगल-अगल डीलर्स के लिए एक कन्सॉलिडेटेड ई-वे बिल बना सकता है।

MUST WATCH

यह भी पढ़े: दूल्हा-दुल्हन का एेसा डांस देख नहीं रुकेगी हंसी, देखें वीडियो

आपूर्तिकर्ता- ग्राहक सूची बना सकते हैं कारोबारी
ई-वे बिल पर अपने आपूर्तिकर्ता- ग्राहक और प्रोडक्ट्स का मास्टर तैयार कर सकते हैं। यानी आपको हर बार इनकी डिटेल्स नहीं देनी होगी। आपके लॉग इन में सभी डिटेल सेव हो जाएगी। इससे हर बार आपूर्तिकर्ता- ग्राहक और प्रोडक्ट डिटेल भरने से बच जाएंगे।

More From national

loading...
Trending Now
Recommended