संजीवनी टुडे

दिल्ली सरकार को हाईकोर्ट ने दिया निर्देश, एक सप्ताह में 50 प्रिंसिपल को उनके पुराने स्कूल करे तैनात

संजीवनी टुडे 12-04-2019 20:22:56


नई दिल्ली। दिल्ली हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार को निर्देश दिया है कि वो एक हफ्ते के अंदर स्कूलों के 50 प्रिंसिपल की उनके स्कूल में तैनात करें, जो पिछले तीन सालों से प्रिंसिपल की जिम्मेदारी नहीं निभा रहे हैं और उन्हें कहीं दूसरी जगह पदस्थ किया गया है। कोर्ट ने यहां तक कहा कि अगर किसी प्रिंसिपल को कोर्ट में भी पदस्थ किया गया है तो उन्हें उनके पुराने स्कूल में तैनात किया जाए। कोर्ट ने दिल्ली सरकार के शिक्षा निदेशालय को इस संबंध में हलफनामा दाखिल करने का निर्देश दिया। मामले की अगली सुनवाई एक मई को होगी।जस्टिस नाजिम वजीरी ने डीएसएसएसबी को निर्देश दिया कि वो शिक्षा निदेशालय की ओर से दो सप्ताह पहले 10591 शिक्षकों की भर्ती के लिए किए गए आग्रह पर जल्द कार्रवाई करें। कोर्ट ने इन शिक्षकों की नियुक्ति के लिए उठाए गए कदम की जानकारी हलफनामा के जरिए कोर्ट को देने का निर्देश दिया।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

कोर्ट ने दिल्ली सरकार और डीएसएसएसबी को निर्देश दिया कि वे शिक्षकों के खाली पड़े पदों पर सीधी या प्रमोशन के जरिए नियुक्ति करने के बारे में स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करें। सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता के वकील अशोक अग्रवाल ने कोर्ट को सूचना दी कि आज की तिथि में दिल्ली के सरकारी स्कूलों में 35 हजार शिक्षकों के पद खाली हैं, जबकि नगर निगमों के स्कूलों में छह हजार शिक्षकों के पद खाली हैं। कोर्ट ने दिल्ली सरकार और दिल्ली की नगर निगमों को निर्देश दिया कि वे अपने-अपने स्कूलों के लिए खेल के मैदान की पहचान करें और वहां फुटबॉल का गोल पोस्ट लगाएं। कोर्ट ने कहा कि फुटबॉल का गोल पोस्ट लगाने के आदेश की तामील संबंधी रिपोर्ट हलफनामा में फोटो के साथ दाखिल करें।

दिल्ली के सरकारी स्कूलों में दस हजार से ज्यादा शिक्षकों के अतिरिक्त पदों की भर्ती के लिए विज्ञापन निकालने के लिए दिशा-निर्देश जारी करने के लिए दायर याचिका पर सुनवाई के दौरान कोर्ट ने यह आदेश जारी किया। याचिका एनजीओ सोशल जूरिस्ट की ओर से वकील अशोक अग्रवाल ने दायर की है। याचिका में कहा गया है कि डीएसएसएसबी को इन पदों पर नियुक्ति के लिए विज्ञापन जारी करने का निर्देश दिया जाए। याचिका में कहा गया है कि हाईकोर्ट के 20 दिसंबर,2001 के आदेश के मुताबिक किसी भी शिक्षा सत्र के शुरू होने पर किसी भी स्कूल में कोई पद खाली नहीं होना चाहिए। इसके बाद भी दिल्ली के सरकारी स्कूलों में अतिरिक्त शिक्षकों क 10591 पद खाली हैं।

MUST WATCH & SUBSCRIBE

याचिका में कहा गया है कि इस संबंध में हाईकोर्ट में एक याचिका लंबित है जिसमें दिल्ली सरकार ने अपने हलफमाने में कहा था कि 2017-18 में अतिरिक्त शिक्षकों के रिक्त पदों को भरने के लिए काफी पहले डीएसएसएसबी को अनुरोध पत्र भेजा जा चुका है लेकिन इसके बाद भी नियुक्ति प्रक्रिया शुरू नहीं की गई है। नियुक्ति प्रक्रिया पूरी होने में 8-10 महीने का समय लगता है। इसलिए इन पदों पर नियुक्ति के लिए डीएसएसएसबी को विज्ञापन जारी करने का निर्देश जारी किया जाए।

More From national

Trending Now
Recommended