संजीवनी टुडे

तेलंगाना में अगले तीन दिन भारी बारिश की संभावना, अलर्ट जारी

संजीवनी टुडे 19-10-2020 20:28:25

भारी बारिश के कारण नगर में अनेक कालोनियों तथा अपार्टमेंट्स में पानी भर जाने से उनमें रह रहे लोगों की परेशानियां बढ़ गई हैं।


हैदराबाद (तेलांगना)। भारी बारिश के कारण नगर में अनेक कालोनियों तथा अपार्टमेंट्स में पानी भर जाने से उनमें रह रहे लोगों की परेशानियां बढ़ गई हैं। मौसम विभाग ने कल और परसों शहर में अति भारी बारिश होने की संभावना जताई है।

बारिश से उत्पन्न बाढ़ के इन हालात में राज्य सरकार समस्या के स्थाई समाधान का भरोसा तो दे रही है लेकिन उस पर जरूरत के हिसाब से अमल नहीं हो पा रहा है। कल रात बारिश के कारण हिमायत सागर के छह गेट खोले गए और तेज बह रहे पानी से फंसी कई कारों और ऑटो को पुलिस ने कड़ी मशक्कत कर बचाया। पुनर्वास केंद्र पहुंचाते समय बहे चार स्थानीय लोगों को भी पुलिस ने बचाया।

राज्य मंत्री के टी रामाराव ने कहा है अब भी कई लोग बाढ़ के पानी में फंसे हुए हैं। कुल 60 कालोनियां बाढ़ की चपेट में हैं। सरकार ने इन बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए कई कदम उठाए हैं। मंत्री ने कहा कि दूसरी बार हैदराबाद में इतने बड़े पैमाने पर भारी बारिश हुई है। वर्ष 1908 में मुसी नदी में बाढ़ आई थी। जीएचएमसी में अब तक 80 प्रतिशत अधिक बारिश दर्ज हुई है। 

राज्य सरकार ने फैसला किया कि बाढ़ पीड़ितों को घर पर ही राहत किट पहुंचाई जाए। राज्य के नगर मंत्री केटीआर ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि बाढ़ से प्रभावित हैदराबाद शहर को सामान्य स्थिति में लाने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जाएं। अब तक लोगों के बीच 18,700 किट वितरित किये गये हैं। किट में 11 प्रकार की सामग्रियां हैं। उन्होंने कहा कि तीन तालाब क्षतिग्रस्त होने से बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है। 

आज यहां एक पत्रकार सम्मेलन को संबोधित करते हुए मंत्री केटीआर ने कहा कि अगले तीन दिनों में भारी बारिश होने की संभावना है। मुख्यमंत्री का आदेश है कि जर्जर अवस्था वाले भवनों को लोग खाली कर दें। संपत्ति का नुकसान होगा तो भरपाई की जा सकेगी, लेकिन जानमाल का नुकसान न होने दें। 

बाढ़ग्रस्त इलाकों का दौरा करने के पश्चात उन्होंने कहा कि हैदराबाद में असाधारण बारिश हुई है। जीएचएमसी क्षेत्र में रिकॉर्ड स्तर पर बारिश हुई है। भारी बारिश के दौरान सतर्क करने के लिए 80 वरिष्ठ अधिकारियों को सरकार ने नियुक्त किया है। फिलहाल 80 क्षेत्रों में पानी का जमाव हुआ है। अपार्टमेंट में बिजली की बहाली की कोशिश की जा रही है। हैदराबाद के दक्षिण क्षेत्र का ज्यादातर पुराना शहर है, वहां बारिश का प्रभाव अधिक है।

गृह मंत्री महमूद अली, मुख्य सचिव सोमेश कुमार और डीजीपी महेंद्र रेड्डी ने एलबी नगर निर्वाचन क्षेत्र में बैरामलगुडा का दौरा किया बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों की स्थितियों का जायजा लिया। राजधानी हैदराबाद में कल शाम सत्तापक्ष के कॉरपोरेटर पर लोगों ने हमला कर दिया। इलाके में बाढ़ की स्थिति से कई स्थानीय लोग नाराज थे और उन्होंने अपना गुस्सा उन पर उतारा। शिक्षा मंत्री साबित रेड्डी के काफिले को रोक कर स्थानीय लोगों नाराजगी जताते हुए धरना दिया। कई अन्य लोगों ने भी मंत्री केटीआर, गृहमंत्री और विधायकों को अपनी समस्याओं से अवगत भी कराया। कई लोगों ने मंत्रियों से कहा कि उनकी समस्याओं का कोई स्थायी समाधान निकालें, जिससे कि उन्हें बार-बार बारिश होने पर परेशान न होना पड़े। 

एक विधायक की एक स्थानीय महिला के साथ उस वक्त झड़प हो गई, जब विधायक ने कहा कि तालाब के निकट घर का निर्माण करने से बाढ़ का पानी घर में घुसना स्वाभाविक है। इस पर महिला ने नाराजगी जताते हुए कहा कि अगर प्रशासन भवन निर्माण का अनुमति नहीं देता तो यह हाल देखने को नहीं मिलता। क्या वोट मांगने आए विधायक को ध्यान नहीं था कि वह सारे अवैध निर्माण तालाब के निकट हैं?

ताजा समाचार मिलने तक हैदराबाद के नगर निगम ने लोगों को पुनर्वास केंद्र में जाकर रहने को कहा है, क्योंकि बंगाल की खाड़ी के कम दबाव का केंद्र बनने से मौसम विभाग ने कल और परसों शहर में अति भारी बारिश की संभावना जताई है।

यह खबर भी पढ़े: विवादित बयान पर चुनाव आयोग को लिखी चिट्ठी, कमलनाथ से मांगा स्पष्टीकरण

यह खबर भी पढ़े: फिल्म 'लक्ष्मी बॉम्ब' के ट्रेलर की अजय देवगन ने की तारीफ, अक्षय कुमार ने कही ये बात

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended