संजीवनी टुडे

दसवीं और 12वीं के छात्रों की परीक्षा फीस माफ करने की मांग वाली याचिका पर सुनवाई टली

संजीवनी टुडे 25-09-2020 17:07:13

दिल्ली हाईकोर्ट ने शुक्रवार को दसवीं और 12वीं के छात्रों को इस सत्र की परीक्षा फीस माफ करने की मांग करने वाली याचिका पर सुनवाई टाल दी है। याचिका एनजीओ सोशल जूरिस्ट की ओर से वकील अशोक अग्रवाल ने दायर की है।


नई दिल्ली। दिल्ली हाईकोर्ट ने शुक्रवार को दसवीं और 12वीं के छात्रों को इस सत्र की परीक्षा फीस माफ करने की मांग करने वाली याचिका पर सुनवाई टाल दी है। याचिका एनजीओ सोशल जूरिस्ट की ओर से वकील अशोक अग्रवाल ने दायर की है। चीफ जस्टिस डीएन पटेल की अध्यक्षता वाली बेंच इस याचिका पर अब 28 सितम्बर को सुनवाई करेगी।

याचिका में कहा गया है कि कोरोना संकट और लॉकडाउन की वजह से अभिभावकों की आमदनी या तो समाप्त हो गई है या उसमें काफी गिरावट आई है। अभिभावकों को दो जून की रोटी जुटाने में भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। सरकारी औऱ निजी स्कूलों में अपने बच्चों को पढ़ने के लिए भेजने वाले अभिभावकों पर कोरोना की जबरदस्त मार पड़ी है। वे निजी स्कूलों का फीस भी जमा नहीं कर पा रहे हैं। सबसे ज्यादा बुरी स्थिति सरकारी स्कूलों में अपने बच्चों को पढ़ने के लिए भेजने वाले अभिभावकों की है।

याचिका में कहा गया है कि अधिकांश अभिभावकों की नौकरी चली गई है या वे नए सिरे से रोजगार हासिल कर रहे हैं। इन अभिभावकों के लिए ये संभव नहीं है कि वे अपने बच्चों की दसवीं और बारहवीं की परीक्षा फीस सीबीएसई को चुका सकें। याचिका में कहा गया है कि कोर्ट सरकार को ये निर्देश दे कि वो दसवीं और 12वीं में पढ़ने वाले छात्रों की परीक्षा फीस चुकाएं। याचिका में कहा गया है कि शैक्षणिक सत्र 2018-19 तक सीबीएसई की परीक्षा फीस काफी कम होती थी लेकिन 2019-20 से ये काफी बढ़ा दी गई है। 

यह खबर भी पढ़े: Bihar Assembly Elections 2020: दीवाली से पहले किसका होगा राज तिलक, बिहार में तीन चरणों में होगा मतदान, जानें पूरी डिटेल

यह खबर भी पढ़े: कृषि बिल के विरोध में आज किसानों का 'भारत बंद', इन राज्यों पर दिखेगा प्रभाव

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended