संजीवनी टुडे

हाथरस गैंगरेप: पीड़िता के जबरन अंतिम संस्कार पर बोले- ADG कहा- शव खराब हो रहा था, परिजनों ने दी थी सहमति

संजीवनी टुडे 30-09-2020 19:40:45

हाथरस गैंगरेप पीड़िता के देर रात जबरन अंतिम संस्कार को लेकर पुलिस पर उठ रहे सवालों के बीच एडीजी प्रशांत कुमार का बयान सामने आया है।


हाथरस। हाथरस गैंगरेप पीड़िता के देर रात जबरन अंतिम संस्कार को लेकर पुलिस पर उठ रहे सवालों के बीच एडीजी प्रशांत कुमार का बयान सामने आया है। एडीजी लॉ ऐंड ऑर्डर ने दावा किया कि परिजनों की सहमति से ही पीड़िता का अंतिम संस्कार किया गया। बता दें कि रात के अंधेरे में पीड़िता का गुपचुप अंतिम संस्कार को लेकर विरोध हो रहा है और इस मामले में पुलिस सवालों के घेरे में है। विपक्षी दल राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार पर हमलावर है और यूपी में जंगलराज का आरोप लगा रही है।

एडीजी प्रशांत कुमार ने कहा, 'पीड़िता की डेडबॉडी भी खराब हो रही थी इसलिए घर के लोगों ने सहमति जताई थी कि रात में ही अंतिम संस्कार कर दिया जाना उचित होगा। इसके अतिरिक्त अभी आधिकारिक पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट नहीं आई है। उसमें जो भी तथ्य होंगे उसके आधार पर आगे की कार्रवाई होगी।'

मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित
एडीजी ने कहा, 'इस पूरे प्रकरण की जांच के लिए शासन ने उच्चस्तरीय कमिटी का गठन किया है जिसका नेतृत्व गृह सचिव भगवान स्वरूप कर रहे हैं। उनकी सहायता के लिए एक डीआईजी स्तर का अधिकारी और एक एसपी स्तर की महिला अधिकारी लगाई गई हैं ताकि अगर स्थानीय पुलिस के द्वारा कोई चूक हुई है तो उस चीजों को अंगित करें।

परिजनों ने किया विरोध, फिर भी कर दिया अंतिम संस्कार
एडीजी ने कहा कि शासन की मंशा बालिकाओं और महिलाओं के खिलाफ अपराध के प्रति जीरो टॉलरेंस की है। बता दें कि दिल्ली एम्स में मौत के बाद पीड़िता का शव मंगलवार देर रात हाथरस लाया गया था और पुलिस ने रात ढाई बजे ही गुपचुप तरीके से पीड़िता का अंतिम संस्कार करा दिया। ग्रामीणों और परिजनों ने विरोध भी किया और ऐंबुलेंस के आगे खड़े होकर शव वापस देने की गुहार भी लगाई लेकिन उनकी एक न सुनी हुई।

डीएम बोले- पिता और भाई ने दी थी सहमति
इससे पहले हाथरस के डीएम ने भी कहा था कि परिवार की सहमति के बिना अंतिम संस्कार के आरोप पूरी तरह से गलत है। पिता और भाई ने रात में ही अंतिम संस्कार के लिए सहमति दी थी। परिवार के सदस्य भी अंतिम संस्कार के वक्त मौजूद थे। पीड़िता का शव लाने वाली गाड़ी गांव में 12.45 से 2.30 बजे तक खड़ी रही थी।

यह खबर भी पढ़े: हाथरस गैंगरेप : कड़कड़डूमा कोर्ट के वकीलों का कोर्ट परिसर में विरोध प्रदर्शन

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended