संजीवनी टुडे

न्यायिक हिरासत में भेजे गए हार्दिक पटेल, जानिए- क्या बोली प्रियंका गांधी?

संजीवनी टुडे 19-01-2020 17:39:37

पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति के पूर्व सयोजक हार्दिक पटेल को शनिवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। गुजरात में अहमदाबाद की एक अदालत से राजद्रोह के एक मामले में गैर जमानती वारंट जारी होने के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया। पटेल की गिरफ्तारी पर प्रियंका गांधी ने भाजपा पर निशाना साधा। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी


नई दिल्ली। पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति के पूर्व सयोजक हार्दिक पटेल को शनिवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। गुजरात में अहमदाबाद की एक अदालत से राजद्रोह के एक मामले में गैर जमानती वारंट जारी होने के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया। पटेल की गिरफ्तारी पर प्रियंका गांधी ने भाजपा पर निशाना साधा। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा की बीजेपी हार्दिक पटेल को परेशान कर रही हैं। प्रियंका ने कहा- हार्दिक पटेल किसानों और युवाओं के लिए संघर्ष करते हैं। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने रविवार को कहा कि किसानों के अधिकारों और युवाओं के लिए संघर्ष करने वाले हार्दिक पटेल को भाजपा बार-बार परेशान कर रही है। उन्होनें ट्वीट के जरिये कहा- हार्दिक ने अपने समाज के लोगों की आवाज उठाई, उनके लिए नौकरियां मांगी, छात्रवृत्ति मांगी। किसान आंदोलन किया। भाजपा इसको 'देशद्रोह' बोल रही है।' 

बता दें हार्दिक को 24 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। गौरतलब हैं की गुजरात में अहमदाबाद की एक अदालत से राजद्रोह के एक मामले में गैर जमानती वारंट जारी होने के बाद कांग्रेस में शामिल हो चुके पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति (पास) के पूर्व सयोजक हार्दिक पटेल को शनिवार को पुलिस ने अहमदाबाद जिले के वीरमगाम तालुका, जो उनका गृह क्षेत्र भी हैं, के हांसलपुर चौराहे के पास से गिरफ्तार कर लिया। यह मामला 25 अगस्त 2015 को यहां जीएमडीसी मैदान में हुई विशाल पाटीदार आरक्षण समर्थक रैली के बाद हुए राज्यव्यापी तोड़फोड़ और हिंसा को लेकर यहां क्राइम ब्रांच ने उसी साल अक्टूबर में दर्ज किया था।

यह खबर भी पढ़े: 4.25 करोड़ लोगों ने 30 मिनट हाथ थामकर बना डाला विश्व रिकॉर्ड, CM नीतीश बोले- दुनिया ने देखा आज बिहार का दम

इसमें कई सरकारी बसें, पुलिस चौकियां और अन्य सरकारी संपत्ति में आगजनी की गयी थी तथा इस दौरान एक पुलिसकर्मी समेत लगभग दर्जन भर लोग मारे गये थे जिनमें कई पुलिस फायरिंग के चलते मरे थे। पुलिस ने आरोप पत्र में हार्दिक और उनके सहयोगियों पर चुनी हुई सरकार को गिराने के लिए हिंसा फैलाने का षडयंत्र करने का आरोप लगाया था। अतिरिक्त जिला न्यायाधीश बी जे गणात्रा की अदालत ने हार्दिक के खिलाफ वारंट जारी करने के बाद मामले की सुनवाई की अगली तिथि 24 जनवरी तय कर दी। सरकारी वकील सुधीर ब्रह्मभट्ट ने यूएनआई को बताया कि उन्होंने अदालत में दलील दी थी कि हार्दिक को हालंकि इस मामले में हाई कोर्ट ने इस शर्त पर जमानत दी थी कि वह मामले की सुनवाई में सहयोग करेंगे पर वह ऐसा नहीं कर रहे। 

मात्र 289/- प्रति sq. Feet में जयपुर में प्लॉट बुक करें 9314166166

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended