संजीवनी टुडे

आरसीईपी वार्ता में सरकार दवाब में नहीं आयेगी : गोयल

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 10-12-2019 17:22:19

मंत्री पीयूष गोयल ने मंगलवार को कहा कि क्षेत्रीय समग्र आर्थिक साझेदारी (आरसीईपी) वार्ता में शामिल होने के लिए पूर्व की सरकार को विवश किया गया था लेकिन मोदी सरकार किसी के दवाब में नहीं आयेगी ।


नई दिल्ली। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने मंगलवार को कहा कि क्षेत्रीय समग्र आर्थिक साझेदारी (आरसीईपी) वार्ता में शामिल होने के लिए पूर्व की सरकार को विवश किया गया था लेकिन मोदी सरकार किसी के दवाब में नहीं आयेगी ।

गोयल ने राज्यसभा में आरसीईपी में सरकार के शामिल नहीं होने को लेकर दिये गये वक्तव्य के बाद स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि आरसीईपी में वार्ता हो सकती है , उसमें कोई झगड़ा नहीं है लेकिन देश के किसानों छोटे उद्योगों और करोबारियों का हित सबसे ऊपर है । उन्होंने कहा पहले की सरकार के समय कोई कारण रहा होगा जिसके कारण भारत ने इस वार्ता में अपने आप को शामिल किया।

यह खबर भी पढ़ें:​ औषधीय पौधों की खेती को दे प्राथमिकता, 75 प्रतिशत तक दी जाती है वितीय सहायता

उन्होंने पारदर्शी तरीके से व्यापार को बढाने पर जोर देते हुए कहा कि हमें फायदा होगा तो दूसरों को भी फायदा देंगे । देश का व्यापार घाटा लगातार बढ रहा है और यह बढकर सात लाख करोड़ रुपये से अधिक हो गया है । वर्ष 2010-11 से 2018-19 तक आसियान के साथ व्यापार घाटा पांच अरब डॉलर से बढकर 21.8 अरब डॉलर हो गया है । चीन के साथ व्यापार घाटा वर्ष 2003-04 में 1.1 अरब डॉलर से 2013-14 में बढ़कर 36.2 अरब डॉलर हो गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From national

Trending Now
Recommended