संजीवनी टुडे

गोपीचंद नारंग की पुस्तक 'ग़ालिब : अर्थवेत्ता, रचनात्मकता एवं शून्यता' पर हुई चर्चा

संजीवनी टुडे 24-11-2020 03:30:00

इस पुस्तक को पढ़ते हुए हम यह समझ सकते हैं कि ग़ालिब की शायरी उनके अपने जमाने की रिवायत से बिल्कुल अलग थी और इंसान को इंसान की तरह समझने की कोशिश थी।


नई दिल्ली। राष्ट्रीय पुस्तक सप्ताह के अवसर पर साहित्य अकादेमी द्वारा आयोजित पुस्तक प्रदर्शनी के दौरान सोमवार को गोपीचंद नारंग की पुस्तक 'ग़ालिब : अर्थवत्ता, रचनात्मकता एवं शून्यता' पर चर्चा कार्यक्रम का आयोजन किया गया। उर्दू एवं फारसी के प्रख्यात विद्वान शरीफ़ हुसैन क़ासमी ने पुस्तक चर्चा के दौरान कहा कि ग़ालिब पर यह किताब इतनी महत्वपूर्ण है कि इसके कई-कई शेरों और जुमलों पर पूरी की पूरी किताबें लिखी जा सकती हैं। उन्होंने कहा कि इस पुस्तक को पढ़ते हुए हम यह समझ सकते हैं कि ग़ालिब की शायरी उनके अपने जमाने की रिवायत से बिल्कुल अलग थी और इंसान को इंसान की तरह समझने की कोशिश थी। 

क़ासमी ने कहा कि 524 पृष्ठ की यह पुस्तक जिसमें 12 अध्याय हैं, ग़ालिब को नई दृष्टि से समझने और समझाने की कोशिश है। उन्होंने यह पुस्तक ग़ालिब पर 100 से अधिक अन्य पुस्तकों के अध्ययन के बाद लिखी है जो उनकी व्यापकता और विविधता को प्रदर्शित करती है। इस किताब में केवल ग़ालिब ही नहीं बल्कि उन पर पहली पुस्तक लिखने वाले उनके शार्गिद अल्ताफ हुसैन हाली भी एक नायक के रूप में प्रस्तुत किए गए हैं। यह तो सब कहते हैं कि ग़ालिब का अंदाज-ए-बयां कुछ और है लेकिन उसको स्पष्ट नहीं कर पाते हैं। 

उन्होंने कहा कि इस पुस्तक में ग़ालिब के अंदाज-ए-बयां के पीछे के कारणों को बेहद शोधपूर्ण तरीके से प्रस्तुत किया गया है। उन्होंने साहित्य अकादेमी द्वारा कोरोना काल में भी इस महत्वपूर्ण पुस्तक पर चर्चा आयोजित करने के लिए धन्यवाद देते हुए कहा कि ऐसे कार्यक्रमों से ही महत्वपूर्ण पुस्तकों के बारे में पाठकों को जानकारी मिल पाती है।

उल्लेखनीय है कि उर्दू फारसी के प्रख्यात विद्वान क़ासमी का संबंध दिल्ली विश्वविद्यालय से रहा है, जहां उन्होंने फारसी के प्राध्यापक के रूप में अपनी सेवाएं प्रदान कीं। उनकी 10 से अधिक पुस्तकें प्रकाशित हैं और उनको राष्ट्रपति एवं देश-विदेश की कई महत्वपूर्ण संस्थाओं द्वारा पुरस्कृत और सम्मानित किया गया है। कार्यक्रम का संचालन साहित्य अकादेमी के सहायक संपादक अजय कुमार शर्मा ने किया।

यह खबर भी पढ़े: कोरोना को लेकर मंगलवार को राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करेंगे पीएम मोदी

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended