संजीवनी टुडे

चंद्रयान-2 को लेकर जल्द मिलने वाली हैं खुशखबरी, अब कुछ ऐसा जो.....

संजीवनी टुडे 17-10-2019 21:32:04

चंद्रयान-2 को 22 जुलाई को लॉन्च किया गया था, ऐनवक्त पर इसरो का संपर्क लैंडर से टूट गया था। बता दें की इस अभियान से चंद्रमा के दक्षिण ध्रुवीय क्षेत्र के अब तक के अछूते भाग के बारे में जानकारी मिलेगी।


नई दिल्ली। चंद्रयान-2 को 22 जुलाई को लॉन्च किया गया था, ऐनवक्त पर इसरो का संपर्क लैंडर से टूट गया था। बता दें की 
इस अभियान से चंद्रमा के दक्षिण ध्रुवीय क्षेत्र के अब तक के अछूते भाग के बारे में जानकारी मिलेगी। इस मिशन से व्यापक भौगौलिक, मौसम सम्बन्धी अध्ययन और चंद्रयान 1 द्वारा खोजे गए खनिजों का विश्लेषण करके चंद्रमा के अस्तित्त्व में आने और उसके क्रमिक विकास की और ज़्यादा जानकारी मिल पायेगी।

इसरो का संपर्क लैंडर से टूटने के बाद अब एक बार फिर विक्रम लैंडर की जानकारी मिलने की आशा जगी हैं। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा का लूनर रिकनायसेंस ऑर्बिटर जल्द उस स्थान के ऊपर से गुजरेगा, जहां विक्रम के गिरने की आशंका जताई गई है। 

यह खबर भी पढ़ें: दिल्ली से काबुल जा रहे एसजी-21विमान को पाक ने घेरा

नासा ने अब कहा है कि जब लैंडिंग क्षेत्र से हमारा ऑर्बिटर गुजरा तो वहां धुंधलापन था। इसलिए छाया में अधिकांश भाग छिप गया। संभव है कि विक्रम परछाई में छिपा हुआ है। नासा ने कहा कि एलआरओ जब अक्तूबर में लैंडिंग साइट के ऊपर से गुजरेगा, तब वहां प्रकाश तस्वीर खींचने के अनुकूल होगा। इस दौरान एक बार फिर विक्रम की स्थिति जानने और उसकी तस्वीर लेने की कोशिश की जाएगी।

मात्र 13.21 लाख में अपने ख़ुद के मकान का सपना करें साकार, सांगानेर जयपुर में बना हुआ मकान कॉल - 9314166166

 

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From national

Trending Now
Recommended