संजीवनी टुडे

जनसहयोग मुहीम से 1 वर्षीय बेटी पहली बार देखेगी मां-बाप का चेहरा!

संजीवनी टुडे 17-11-2019 16:23:37

जन्म से अपने माँ बाप का चेहरा न देख पाने वाली दाक्षी अब दुनिया देखेंगी। मध्यप्रदेश के रायसेन जिले की बरेली तहसील के ग्राम जनकपुर के एक गरीब चौकीदार राकेश मेहरा की 1 वर्षीय मासूम बेटी दाक्षी जिसने जन्म


रायसेन। जन्म से अपने माँ बाप का चेहरा न देख पाने वाली दाक्षी अब दुनिया देखेंगी। मध्यप्रदेश के रायसेन जिले की बरेली तहसील के ग्राम जनकपुर के एक गरीब चौकीदार राकेश मेहरा की 1 वर्षीय मासूम बेटी दाक्षी जिसने जन्म लेने के बाद अपने माँ बाप को नही देखा है। बच्ची की आंखों का रेटिना जन्म से फटा हुआ है। गरीब मां बाप उसका इलाज कराने में असमर्थ हैं।

यह खबर भी पढ़े: रानू मंडल की गहरे मेकअप और भारी-भरकम गहने वाली तस्वीर सोशल मीडिया पर छाई हुई हैं, आप भी देखिये!

अब इस बच्ची को दुनिया दिखाने का संकल्प लिया है बरेली तहसीलदार निकिता तिवारी ने और सहयोग में आगे आये हैं क्षेत्रीय नागरिक। सुश्री तिवारी ने बताया कि इस बच्ची को आयुष्मान योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा क्योंकि अस्पताल तेलंगाना राज्य में है और अस्पताल प्रबंधकों ने इस योजना का लाभ देने से इनकार कर दिया है। 

यह खबर भी पढ़े: बड़ी कामयाबी: बगदादी के खात्मे के बाद IS के 241 आतंकियों ने किया आत्मसमर्पण

ऐसे में इस बच्ची की आंखें ठीक करवाने उन्होंने जनसहयोग की एक मुहिम चलायी और कुछ ही दिनों में 2़ 50 लाख रूपये इकट्ठे हो गए। हालांकि दाक्षी का इलाज सरल नहीं है, 15 से 20 लाख रुपये का खर्च उसके आपरेशन में आ रहा है लेकिन कहते हैं जहां चाह, वहां राह। दाक्षी के इलाज के लिए धन संग्रह की मुहिम जारी है। सुश्री तिवारी ने बताया कि 26 नवंबर को हैदराबाद में एक निजी अस्पताल में दाक्षी की आंखों की जांच करवाई जायेगी और फिर आगे का आपरेशन एवं उपचार शुरू हो जायेगा।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From national

Trending Now
Recommended