संजीवनी टुडे

बाढ़ पीड़ितों ने जवानों को बांधी राखी, कहा शुक्रिया

इनपुट-यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 13-08-2019 20:17:41

रक्षा बंधन के त्योहार को दो दिन पहले ही मंगलवार को उस समय मना लिया जब उन्होंने बाढ़ से बचाने में मददगार जवानों काे राखी बांधी।


बेंगलुरु। उत्तर कर्नाटक में बाढ़ से प्रभावित क्षेत्र के लोगों ने भाई-बहन के प्यार के प्रतीक रक्षा बंधन के त्योहार को दो दिन पहले ही मंगलवार को उस समय मना लिया जब उन्होंने बाढ़ से बचाने में मददगार जवानों काे राखी बांधी। इस दौरान उन्होेंने सेना के जवानों के कलाई पर राखी बांधी जो कर्नाटक के 17 प्रभावित जिलों में लोगों को बाढ़ जैसी स्थिति से सुरक्षित निकालने में लगे हुए हैं। प्रभावित लोगों का मानना है कि जब तक भारतीय सेना, एनडीआरएफ, कर्नाटक आपदा मोचन बल बचाव कार्य के लिए नहीं आए थे तब तक उनकी जान जोखिम में थी और जिस स्थिति में यह लोग राहत कार्य में लगे हुए हैं, वह बहुत चूनौतीपूर्ण है।

यह खबर भी पढ़ें: नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी सेना की हलचल सामान्य: जनरल रावत

मंगलवार को बेलगावी जिले में प्रभावित क्षेत्र से सुरक्षित निकाले जाने के बाद एक गर्भवती महिला सावित्री ने सेना के अधिकारी को राखी बांधते हुए कहा,“ इनके कर्म किसी भी बहन के लिए सबसे बड़ा तोहफा है जो उसे अपने भाई से रक्षाबंधन के दौरान मिलता है। जब मैं जिंदगी और मौत के बीच लड़ रही थी, तब इन्हीं साहसी लोगों ने मुझे बचाया।” इससे पूर्व कल बचाव दल ने राहत केंद्र में मुस्लिम भाइयों और बहनों के साथ ‘बकरीद’ का त्योहार मनाया। इस अवसर पर बेलागावी जिले के रायबाग तालुक के शिरगुर के ग्रामीणों ने मेजर राठौर और उसकी टीम को गांव के मस्जिद में नमाज़ के लिए आमंत्रित किया। सैनिकों और ग्रामीणों ने साथ में मिलकर सेवइयां और बिरयानी खाई। इस दौरान ग्रामीणों ने भारतीय सेना को बचाव कार्य और बाढ़ पीड़ितों की जान बचाने के लिए धन्यवाद कहा।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब चैनल

सैन्य बचाव दल 15 जिलों में फंसे अब तक हजारों बाढ़ पीड़ितों को सुरक्षित स्थान तक पहुंचाने में सफल रही है। सोमवार को भी बचाव दल ने 75 से ज्यादा लोगों को सुरक्षित स्थान तक पहुंचाया जिसमें 25 विदेशी भी शामिल हैं जो वीरापुरा गद्दी के विश्व धरोहर हम्पी में फंसे थे। एसडीआरएफ बचाव दल समेत पांच लोगों को भी सुरक्षित बचाया गया, जब तुंगाभादरा नदी में पानी के तेज बहाव के कारण नाव पलट गयी और पानी के बहाव के साथ कृष्णा नदी में के बीचो-बीच पहुंच गयी। तुरंत ही हेलिकॉप्टर की सहायता से पांचों को सुरक्षित निकाल लिया गया। 

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From national

Trending Now
Recommended