संजीवनी टुडे

पुलवामा हमले की पहली बरसी: CRPF ने साथियों को किया याद, म्यूजिशियन ने दी अनोखी श्रद्धांजलि

संजीवनी टुडे 14-02-2020 11:58:00

आज पुलवामा हमले के एक साल हो गए हैं। पिछले साल 14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ (केंद्रीय रिजर्व बल) के काफिले पर हमला किया गया था।


नई दिल्ली। आज पुलवामा हमले के एक साल हो गए हैं। पिछले साल 14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ (केंद्रीय रिजर्व बल) के काफिले पर हमला किया गया था। पूरा देश आज उन शहीद जवानों को सलाम कर रहा है, जिन्होंने हमले के आगे प्राणों को न्यौछावर करके शहादत और बलिदान की बेमिसाल नजीर पेश की। श्रीनगर के लेथपोरा कैंप में आज पुलवामा आतंकी हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि दी गयी।

सीआरपीएफ के बड़े अफसर आज यहां पर पहुंच रहे हैं और शहीदों को याद कर रहे हैं।  पुलवामा में भी वक्त शहीदों को सलामी दी गयी। यहां पर एक स्मारक का निर्माण किया गया है, जो शहीद जवानों के सम्मान में बनाया गया है। महाराष्ट्र के उमेश यादव ने यहां पर कलश सौंपा है, जिसमें सभी 40 जवानों के घर की मिट्टी है। अब इस कलश को इसी स्मारक में रखा जाएगा। बतादें कि उमेश गोपीनाथ जाधव पेशे से म्यूजिशियन और फार्माकॉलजिस्ट हैं।

पिछले एक साल से शहीदों को अनोखे तरीके से श्रद्धासुमन अर्पित कर रहे हैं। उमेश ने कहा, 'मुझे गर्व है कि मैं पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों के परिवारों से मिला और उनकी दुआएं लीं. मां-बाप ने अपने बेटे को खोया, पत्नियों ने अपने पतियों को, बच्चों ने अपने पिता को, दोस्तों ने अपने दोस्त को. मैंने उनके घर और श्मशान घाट जाकर मिट्टी इकट्ठा की.

जब उमेश ऐसा बोल रहे थे तो वहां मौजूद सभी लोग भावुक हो उठे। जाधव ने हमले में शहीदों के परिजनों से मिलने के लिए पूरे भारत में 61000 किमी की यात्रा की।  पिछले हफ्ते ही उनकी यह यात्रा खत्म हुई जिसे वह 'तीर्थ यात्रा' मानते हैं।

यह भी पढ़े: पुलवामा हमले की बरसी पर नवाब मलिक ने कहा- RDX कहां से आया था इसकी अब तक जांच नहीं हुई

यह भी पढ़े: पुलवामा शहादत : एक साल बीत जाने के बाद भी नहीं सूख रहे शहीद जवान रोहित के परिजनों के आंसू

मात्र 289/- प्रति sq. Feet में जयपुर में प्लॉट बुक करें 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From national

Trending Now
Recommended