संजीवनी टुडे

दिल्ली निजामुद्दीन मामले में FIR दर्ज, क्राइम ब्रांच करेगी जांच

संजीवनी टुडे 31-03-2020 22:53:04

निजामुद्दीन के मरकज में उसके प्रबंधन द्वारा मामले में बड़ी लापरवाही सामने आने के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया। लिहाजा घटना को लेकर देर शाम एफआईआर दर्ज कर जांच की जिम्मेदारी दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को सौंप दी गई।


नई दिल्ली। निजामुद्दीन के मरकज में उसके प्रबंधन द्वारा मामले में बड़ी लापरवाही सामने आने के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया। लिहाजा घटना को लेकर देर शाम एफआईआर दर्ज कर जांच की जिम्मेदारी दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को सौंप दी गई। पुलिस ने इस मामले में मौलाना साद और अन्य के खिलाफ आईपीसी की धारा 120बी के साथ ही महामारी अधिनियम 269, 270 और 271 की धाराओं में केस दर्ज किया है।

दिल्ली के उपराज्यपाल के निर्देश पर मामले की छानबीन के लिए दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम डीसीपी जॉय तिर्की के नेतृत्व में मौके पर पहुंची और पूरे इलाके का जायजा लिया। इसके बाद चली लम्बी बैठक में देर शाम इस मामले में एफआईआर दर्ज कर केस की जांच की जिम्मेदारी क्राइम ब्रांच को सौंपने का फैसला लिया गया।

नप सकते हैं लापरवाह पुलिस वाले 
इस मामले में स्थानीय पुलिस की लापरवाही सामने आने के बाद कुछ पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की आशंका जताई जा रही है। पुलिस के एक अधिकारी की मानें तो पुलिस ने दो बार नोटिस भेजा था लेकिन पुख्ता कार्रवाई समय रहते नहीं की गई। इससे दिल्ली ही नहीं बल्कि देश के कई राज्यों में लोगों की जान खतरे में पड़ गई है। इसलिए इस बात की भी जांच की जाएगी कि इस मामले में कौन-कौन से पुलिसकर्मियों की लापरवाही रही है। इसके बाद यह अंदेशा जताया जा रहा है कि कुछ स्थानीय पुलिसकर्मी मामले में लापरवाही बरतने को लेकर नप सकते हैं।

रातभर हुई 800 लोगों की तलाश, भेजे अस्पताल 
निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी जमात के मरकज में मौजूद करीब 800 लोगों के फरार हो जाने के बाद पुलिस और प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए। इसके बाद सोमवार और मंगलवार की रात पुलिस और स्थानीय प्रशासन ने रातभर उनकी लोगों की तलाश की गई और कड़ी मशक्कत के बाद 800 लोगों को पकड़कर उन्हें विभिन्न अस्पतालों में भेजा। इनमें से ज्यादातर दूसरे राज्यों से आए लोग हैं। इनके बाद पुलिस अब उन लोगों की तलाश कर रही है, जो वहां से जा चुके हैं। 

कार्यक्रम की वीडियो जब्त कर हो रही लोगों की पहचान 
निजामुद्दीन से जा चुके लोगों की पहचान करने के लिए पुलिस वहां के कार्यक्रम के दौरान बनाई गई वीडियो खंगालकर लोगों की पहचान करने की कोशिश कर रही है। इसके लिए दक्षिणी रेंज की कई पुलिस टीमों को लगाया गया है। पुलिस यह पुख्ता करना चाहती है कि वहां से निकलकर लोग दिल्ली में ही छुपे हुए हैं या अन्य राज्यों में जा चुके हैं।

ज्वाइंट कमिश्नर ने संभाली जांच की कमान 
दक्षिणी रेंज के ज्वाइंट कमिश्नर देवेश चंद श्रीवास्तव इस पूरी कार्रवाई की खुद कमान संभाले हुए हैं। वे भारी पुलिस बल के साथ निजामुद्दीन पहुंचे। पूरे इलाके को सीलकर स्थानीय प्रशासन और आपदा प्रबंधन की टीम के साथ जमात की नौ मंजिला इमारत की तलाशी ली। साथ ही इलाके में भी पूरी तलाशी ली गई। जमात में रखे कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेजों को जब्त कर लिया गया, साथ ही कुछ वीडियो भी जब्त किया गया। तलाशी के दौरान पाए गए संदिग्ध 800 लोगों को पकड़कर बसों से अस्पताल भेजा गया। पुलिस जब्त किए गए वीडियो और रजिस्टरों के आधार पर लोगों की पहचान करने का प्रयास कर रही है।
 
ड्रोन से रखी जा रही नजर 
पूरे इलाके की निगरानी के लिए पुलिस 4 ड्रोन की मदद ले रही है। इसके अलावा पुलिस टीम ने स्थानीय लोगों पर जमात की मस्जिद की ओर आने पर प्रतिबंध लगा दिया है। मरकज प्रबंधन को दो बार नोटिस दिए जाने के मामले में पुलिस के अधिकारियों का कहना है कि जमात को दो बार नोटिस दिया गया था। इनमें एक नोटिस जनता कर्फ्यू से एक दिन पहले देकर पूरी इमारत को खाली करने के निर्देश दिए गए थे। बाद में देश में लॉकडाउन होने पर जांच की गई तो पता चला कि इमारत को खाली नहीं कराया गया। इसके बाद 28 मार्च को पुलिस ने दूसरा नोटिस दिया। 

घरों में कैद हुए हजारों परिवार 
पुलिस ने प्रशासन के साथ मिलकर जमात की इमारत को सील करने के साथ ही आसपास के इलाके को भी पूरी तरह से अपने घेरे में ले लिया है। बैरिकेड लगाकर पूरे इलाके को बंद कर दिया गया है। इस वजह से आसपास बने मकानों में रहने वाले करीब चार हजार परिवार अपने-अपने घरों में कैद हो गए हैं। इस इलाके में अब किसी भी बाहरी का प्रवेश पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। न ही लोगों को अंदर जाने की अनुमति है और न ही बाहर आऩे की। हालांकि जरूरी सामानों के लिए जो लोग घरों से बाहर निकल रहे हैं, उनकी मौके पर मौजूद स्वास्थ्य विभाग की टीम से प्राथमिक जांच करवाई जा रही है। पुलिस लोगों से अपील कर रही है कि एक ही बार में सभी जरूरी सामान खरीद लेंं। 

यह खबर भी पढ़े: निजामुद्दीन कार्यक्रम का कनेक्शन चंबा से निकलने पर प्रशासन अलर्ट, जिले के चौदह लोग सूची में शामिल

यह खबर भी पढ़े: छत्तीसगढ़ से तबलीग में शामिल हुए 25 लोगों की पहचान कर किया क्वारनटाईन

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended