संजीवनी टुडे

अम्फान तूफान के दौरान बेटी की आंखों के आगे पिता ने तोड़ दिया दम, कोई नहीं बचा पाया

संजीवनी टुडे 23-05-2020 14:51:21

जिंदगी में कभी-कभी ऐसे हादसे हो जाते हैं जो जीवन के आखिरी पल तक नहीं भूलते। कोलकाता की नौ साल की मासूम अर्पिता गायन ने भी चक्रवात वाले दिन कुछ ऐसी ही तस्वीर देखी।


कोलकाता। जिंदगी में कभी-कभी ऐसे हादसे हो जाते हैं जो जीवन के आखिरी पल तक नहीं भूलते। कोलकाता की नौ साल की मासूम अर्पिता गायन ने भी चक्रवात वाले दिन कुछ ऐसी ही तस्वीर देखी। उसकी आंखों के सामने उसके पिता की पानी में करंट लगने से तड़प-तड़पकर मौत हो गई और पूरा परिवार छाती-कपार पीटने के अलावा और कुछ नहीं कर सका।

दरअसल, चक्रवाती तूफान आने से बिजली के टूटे तार की चपेट में आकर अर्पिता के पिता पिंटू (37) अचेत होकर पानी में गिर पड़े। पूरे पानी में करंट फैल गया। अर्पिता की मां अर्पणा, चाचा और आसपास के लोग सारा हृदयविदारक दृश्य देखते रहे। मां-बेटी का रो-राेकर बुरा हाल था, लेकिन किसी की हिम्मत नहीं पड़ी कि वह पानी में जाकर पिता को बचा पाता। अपर्णा बताती हैं कि उन्हें नहीं पता कि वह कभी अपनी बेटी को यह समझा पाएंगी कि वह क्यों उसके पिता को नहीं बचा पाईं।

मामला बेहला इलाके का है। पिंटू उन 19 लोगों में शामिल हैं जो कोलकाता में अम्फान तूफान के दौरान मारे गए हैं। उनका शव पानी से बरामद हुआ है। चक्रवात की वजह से पश्चिम बंगाल में जिन 86 लोगों की मौत हुई है उनमें कोलकाता के 11 लोग भी शामिल हैं। इन सभी की करंट लगने से मौत हुई है। पत्नी से पिंटू की आखिरी बात बुधवार की रात 9 बजे हुई थी, जब वह अपने तीन सहकर्मियों के साथ ऑफिस के लिए घर से निकले थे। पानी से भरी सड़क पर चलते हुए पिंटू अचानक गिर गए और मदद के लिए चीखने लगे लेकिन किसी की भी हिम्मत नहीं हुई कि उनके पास जाए। बिजली के तीन तार टूटकर पानी में गिरे थे।

करंट के झटके से पिंटू बुरी तरह झुलस गए। उनकी मौके पर ही मौत हो गई। अपर्णा के अनुसार पिंटू पानी में ही आधी रात तक पड़े रहे। हादसे की सूचना पुलिस को दी गई थी, लेकिन प्रशासन की सख्त हिदायत थी कि कोई भी पानी में न उतरे। किसी को वहां जाने की अनुमति नहीं थी। बार-बार शिकायत करने के बाद सीईएससी के कर्मचारी मौके पर पहुंचे और उन्होंने बिजली काटी। तब जाकर पिंटू का शव वहां से ले जाया जा सका। अस्पताल ले जाने पर चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया।

9 साल की मासूम पिता को पानी में पड़े देखकर लगातार रोए जा रही थी। वह समझ नहीं पा रही थी कि कोई उसके पिता को क्यों नहीं बचा पाया। पड़ोसी भी उस दृश्य को याद कर सिहर उठते हैं। कहते हैं, बहुत ही हृदय विदारक घटना थी।

यह खबर भी पढ़े: कांग्रेस नेता अधीर रंजन ने CM ममता पर बोला हमला, कहा- मुकाबला करने में रहीं विफल

यह खबर भी पढ़े: अम्फन चक्रवात प्रभावित क्षेत्रों का दोबारा हवाई सर्वेक्षण करेंगी CM ममता बनर्जी

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended