संजीवनी टुडे

कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा- राममंदिर के बाद 'रामत्व' के विकास पर कार्य करेगा विहिप

संजीवनी टुडे 03-08-2020 16:40:04

विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने लखनऊ में सोमवार को एक पत्रकार वार्ता के दौरान कहा कि विहिप राममंदिर के बाद राममत्व के विकास पर कार्य करेगा।


लखनऊ। विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने लखनऊ में सोमवार को एक पत्रकार वार्ता के दौरान कहा कि विहिप राममंदिर के बाद राममत्व के विकास पर कार्य करेगा। उन्होंने राम मंदिर के भूमि पूजन को देश के लिए एक परम गौरवशाली क्षण बताया। 

सोमवार को वे 'श्रीराम जन्मभूमि मन्दिर और भविष्य का भारत' विषय पर पत्रकार बन्धुओं से रूबरू थे। उन्होंने कहा कि 492 वर्ष से इस घड़ी की प्रतीक्षा हो रही थी। 1989 में राममंदिर का शिलान्यास हुआ था। एक लम्बी घड़ी लगी, अब 5 अगस्त को नींव पूजन होगा। श्रीराम जन्मभूमि पर राष्ट्रीय अस्मिता के प्रतीक भगवान राम का मंदिर बनाने के लिए हिन्दू समाज ने निरंतर संघर्ष किया है। 1984 से प्रारम्भ हुए वर्तमान संघर्ष में तीन लाख से अधिक गांवों की सहभागिता के साथ 16 करोड़ राम भक्तों ने भाग लिया। 09 नवम्बर, 2019 को सर्वोच्च न्यायालय के ऐति​हासिक निर्णय देने तक यह संघर्ष निरंतर चलता रहा। उन्होंने कहा कि यह अद्वितीय अभियान का ही परिणाम था कि राष्ट्रीय शर्म का प्रतीक बाबरी ढांचा अब वहां नहीं है और राष्ट्रीय गौरव के प्रतीक भगवान श्री राम के भव्य मंदिर निर्माण का संकल्प एक-एक कदम आगे बढ़ते हुए साकार हो रहा है।

आलोक कुमार ने कहा कि हमने इसके बाद के कार्य के बारे में सोचा तो सामने आया कि विहिप आगे राममत्व पर कार्य करेगी। वंचित लोगों के शिक्षा पर कार्य होगा। विहिप की ओर से विभिन्न सेवा प्रकल्पों व एकल विद्यालय के जरिये वंचित लोगों की सेवा और शिक्षा पर कार्य चल रहा है, इसे और तेज किया जायेगा। विहिप रोजगार देने वाली शिक्षा पर कार्य करेगी। विहिप के कार्यकर्ता गांव में जायेंगे, अलख जगाया जायेगा। श्रीराम के बताए रास्ते पर चलेंगे। सर्वे भवन्तु सुखिनः पर कार्य किया जाएगा और राम मन्दिर इसकी शुरुआत है। 

उन्होंने कहा कि अयोध्या जमात-2 नहीं होगा। हमने सरकार, स्वास्थ्य मंत्रालय से बातचीत की है। अयोध्या में हमारे कार्यकर्ता भीड़ नहीं लगाएंगे। 5 अगस्त को कार्यकर्ता घरों में दीपक जलायेंगे और संकीर्तन करेंगे। बताया कि इस अवसर पर अयोध्या आन्दोलन से जुड़े कुछ प्रमुख लोगों को ही आमंत्रित किया गया है।  उन्होंने कहा कि हमने भारत के विभिन्न पंथों के लोगों से मिट्टी मंगाई है। हमारी कार्यशाला पहले से चल रही थी, यह पूज्य अशोक सिंघल जी का विश्वास था। एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि मुझे दिग्विजय सिंह के प्रश्नों के उत्तर नहीं देने हैं, मैंने तो सुना है कि सोनिया गांधी भी अस्पताल में भर्ती हैं।

यह खबर भी पढ़े: उमा भारती सरयू किनारे रहेंगी, इस वजह से भूमि पूजन कार्यक्रम में नहीं होंगी शामिल

यह खबर भी पढ़े: पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मनोहर जोशी की पत्नी अनघा जोशी का निधन

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended