संजीवनी टुडे

देशभर में आज डॉक्टर हड़ताल पर, पूरे देश में ठप रहेंगी स्वास्थ्य सेवाएं

संजीवनी टुडे 17-06-2019 08:35:09

पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों की पिटाई की घटना के विरोध में आज देशभर में डॉक्टरों की हड़ताल रहेगी। पूरे देश के डॉक्टरों के शीर्ष संगठन आईएमए (इंडियन मेडिकल एसोसिएशन) ने सोमवार सुबह छह बजे से चौबीस घंटे की हड़ताल का आह्वान करते हुए केंद्र सरकार से डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए केंद्रीय कानून लाने की मांग की है।


नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों की पिटाई की घटना के विरोध में आज देशभर  में डॉक्टरों की हड़ताल रहेगी। पूरे देश के डॉक्टरों के शीर्ष संगठन आईएमए (इंडियन मेडिकल एसोसिएशन) ने सोमवार सुबह छह बजे से चौबीस घंटे की हड़ताल का आह्वान करते हुए केंद्र सरकार से  डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए केंद्रीय कानून लाने की मांग की है। बता दें की आईएमए के बैनर तले देश भर में करीब 3 लाख से ज्यादा डॉक्टर हड़ताल में शामिल होंगे। इनके सहित सरकारी अस्पतालों के रेजीडेंट व आयुष के डॉक्टर भी हड़ताल पर रहेंगे। ऐसे में करीब दस लाख डॉक्टर ओपीडी में नहीं दिखेंगे। इससे मरीजों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। हालांकि आपातकालीन वार्ड, प्रसूति और पोस्टमार्टम इत्यादि बाधित नहीं रहेंगे। 

एसोसिएशन का कहना है कि अगर सरकार उनकी सुरक्षा के लिए केंद्रीय कानून नहीं लाती है तो वे आगे बड़े कदम उठा सकते हैं। सोमवार से चौबीस घंटों की हड़ताल में इमर्जेंसी सेवाओं के अलावा हर तरह की स्वास्थ्य सेवा बंद रखने का फैसला किया गया है। इसमें पैथोलॉजी से लेकर स्वास्थ्य से जुड़ी हर सेवा शामिल है। आईएमए के प्रेसीडेंट (इलेक्ट) राजन शर्मा ने रविवार को एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि देश के 19 राज्य पहले ही अपने यहां डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए कानून बना चुके हैं, लेकिन केंद्रीय कानून के अभाव में, और आईपीसी-सीआरपीसी में इसके लिए कानून न होने से ये कहीं भी प्रभावी नहीं हैं। केंद्र सरकार को डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए कानूनों में एकरुपता लाने के लिए एक केंद्रीय कानून लाना चाहिए। राजन शर्मा के मुताबिक उनका एक प्रतिनिधि मंडल रविवार शाम भी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन से मिलने जा रहा है। दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन के अध्यक्ष रह चुके डॉ. हर्षवर्धन से उन्हें सकारात्मक उम्मीद है। 

क्या है मांग
इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की मांग है कि सभी स्वास्थ्य सेवाओं, अस्पतालों को सेफ जोन घोषित किया जाए। अस्पतालों में और इनके आसपास त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था शुरू की जाए। सभी अस्पतालों में सिक्योरिटी बढ़ाने के साथ-साथ पूरे अस्पतालों में सीसीटीवी लगाने की मांग भी शामिल है। मांग है कि अभी के मामले में ममता बनर्जी घायल डॉक्टर से मिलने जाएं और डॉक्टरों से उनके बुलाए स्थान पर जाकर बात करें। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

 

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

More From national

Trending Now
Recommended