संजीवनी टुडे

डिजिटल ट्रांजेक्‍शन: रिजर्व बैंक ने RTGS के जरिए दी 24 घंटे मनी ट्रांसफर की सुविधा

संजीवनी टुडे 30-11-2020 06:27:00

कोरोना काल में डिजिटल ट्रांजेक्‍शन में आई तेजी को देखते हुए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने भी इसका विस्‍तार करने का फैसला किया है।


नई दिल्‍ली। कोरोना काल में डिजिटल ट्रांजेक्‍शन में आई तेजी को देखते हुए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने भी इसका विस्‍तार करने का फैसला किया है। आरबीआई ने ऑनलाइन ट्रांजेक्‍शन की सुविधा को बढ़ाते हुए एक दिसम्‍बर, 2020 से 24 घंटे यानी टाइमिंग 24x7 कर दिया है। 

गौरतलब है कि रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (आरटीजीएस) सेवा शुरू करने का फैसला किया है। आरटीजीएस के जरिए ज्‍यादा पैसे ट्रांसफर किए जाते हैं। वर्तमान में ये सुविधा सुबह के 7 बजे से शाम के 6 बजे तक सभी कार्यदिवस पर उपलब्ध होती है। वहीं, बैंक दूसरे और चौथे शनिवार को बंद रहते हैं। ऐसे में ये सेवा बंद रहती है। आरबीआई अब इसको बढ़ाकर 24 घंटे करने का प्रयास कर रहा है।

इस सुविधा के विस्‍तार को लेकर आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि विश्‍व में बहुत कम ऐसे देश हैं, जहां पर 24x7x365 लार्ज वैल्यू रियल टाइम पेमेंट की सुविधा है। रिजर्व बैंक ने जुलाई 2019 में एनईएफटी आरटीजीएस चार्ज मुक्त कर दिया था, जबकि पहले उस पर चार्जेज लगते थे।

उल्‍लेखनीय है कि ऑनलाइन मनी ट्रांसफर के लिए तीन विकल्प हैं। इसमें तत्काल भुगतान सेवा (आईएमपीएस), नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (एनईएफटी) और आरटीजीएस है। इसमें एनईएफटी और आईएमपीएस की सेवा पहले से ही 24x7 उपलब्ध है। एनईएफटी के जरिए 2 लाख रुपये तक ऑनलाइन मनी ट्रांसफर किए जाते हैं। इसमें आईएमपीएस के जरिए फंड ट्रांसफर करने पर शुल्‍क चार्ज लगता है। ये शुल्‍क 2.5 रुपये से 25 रुपये तक हो सकता है। वहीं, ये सुविधा 24 घंटे के लिए उपलब्ध है। इसमें एक ट्रांजेक्‍शन में मैक्सिमम 2 लाख रुपये ट्रांसफर किए जा सकते हैं।

यह खबर भी पढ़े: अमित शाह ने रोड 'शो' में नवाबों के शहर को आधुनिक हैदराबाद में बदल देने का किया वादा

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended