संजीवनी टुडे

देवभूमि की बेटी कनुप्रिया रावत यूरोप में करेगी रिसर्च, अंतरराष्ट्रीय गढ़वाल महासभा ने किया सम्मानित

संजीवनी टुडे 25-10-2020 06:06:00

देवभूमि की एक और बेटी कनुप्रिया रावत देश-दुनिया में ऋषिकेश का नाम ऊंचा करेगी।


ऋषिकेश। देवभूमि की एक और बेटी कनुप्रिया रावत देश-दुनिया में ऋषिकेश का नाम ऊंचा करेगी। वह यूरोप में रिसर्च करेंगी। रायवाला निवासी कनुप्रिया रावत को यूरोप के पोलैंड की प्रसिद्ध काजिमिज विल्कि यूनिवर्सिटी ने भारत से क्लीनिकल साइकोलॉजिस्ट में रिसर्च के लिए चुना है। इस उपलब्धि पर अंतरराष्ट्रीय गढ़वाल महासभा ने कनुप्रिया रावत को सम्मानित किया।

कनुप्रिया को महासभा के अध्यक्ष डॉ. राजे सिंह नेगी एवं समाजसेवी मधु असवाल ने शॉल एवं स्मृति चिह्न भेंट कर सम्मानित किया। कनुप्रिया भारत से चुनी गई इकलौती स्कॉलर हैं। कनुप्रिया की पढ़ाई का खर्च भी यूनिवर्सिटी उठाएगी। यूनिवर्सिटी ने कुल 5 रिसर्च स्कॉलर को चुना है। कनुप्रिया अगले माह पोलैंड रवाना होंगी। उन्होंने वर्ष 2018 में देव संस्कृति विश्वविद्यालय हरिद्वार से एमएससी की थी। लॉकडाउन के दौरान उन्होंने पीएचडी के लिए तैयारी की और चयनित हो गईं। वह जूडो की खिलाड़ी भी रही हैं। चारों भाई-बहनों में सबसे बड़ी हैं। कनुप्रिया की छोटी बहन निधि रावत वॉलीबाल की नेशनल खिलाड़ी रही हैं। कनुप्रिया मूल रूप से चमोली जिले के थराली के पास गूंगा गांव के रहने वाली हैं। उनके पिता पुलिस में अधिकारी थे। कनुप्रिया ने कहा कि वह पढ़ाई पूरी कर वापस उत्तराखंड में अपनी सेवाएं प्रदान करेंगी।

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended