संजीवनी टुडे

दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल की बेटी को अगवा करने की धमकी, सुरक्षा बढ़ाई गई

संजीवनी टुडे 12-01-2019 22:34:27


नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की बेटी हर्षिता केजरीवाल को अगवा करने की धमकी मिली है। यह धमकी भरा ई-मेल मुख्यमंत्री केजरीवाल की ऑफिसियल ई-मेल आईडी पर भेजा गया है। मेल मिलते ही दिल्ली पुलिस को सूचित किया गया, जिसके बाद पुलिस प्रशासन के कान खड़े हो गए। पुलिस ने तत्काल ही एहतियातन सीएम आवास की सुरक्षा बढ़ा दी और विशेष पुलिस बल तैनात कर दिया है। 

मुख्यमंत्री की बेटी की सुरक्षा का ध्यान रखते हुए उन्हें दिल्ली पुलिस द्वारा पीएसओ मुहैया कराया गया है। इसके साथ ही मेल के संदर्भ में मामला दर्ज कर लिया गया और केस के जांच की जिम्मेदारी दिल्ली स्पेशल सेल को सौंप दिया गया। ई मेल के यूआरएल के जरिये यह पता लगाया जा रहा है कि मेल भेजने वाला कौन है।

सूत्रों के मुताबिक अपहरण की धमकी गत 9 जनवरी को मिली थी। बताया जाता है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की बेटी हर्षिता केजरीवाल एक निजी कम्पनी में कार्यरत हैं। पुलिस सूत्रों की मानें तो गत 9 जनवरी को मुख्यमंत्री कार्यालय की ई-मेल आईडी पर एक मेल प्राप्त हुआ, जिसमें मेल करने वाले ने केजरीवाल की बेटी का अपहरण करने की धमकी दी है। हालांकि जानकारों का कहना है कि मेल के अंत में ‘यह मेल फर्जी है’ लिखा हुआ है। यह मेल देखने के बाद तत्काल ही मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा घटना की जानकारी सिविल लाइंस थाने को दी गई। साथ ही ई-मेल की प्रति भी मुहैया कराई गई। 

पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए सीएम आवास की सुरक्षा और बढ़ा दी है और मुख्यमंत्री की बेटी हर्षिता को अस्थाई तौर पर पीएसओ मुहैया करा दिया गया है। साथ ही ईमेल करने वाले का पता लगाने की भी कोशिश की जा रही है। दरअसल कुछ माह पूर्व ही मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आप पार्टी द्वारा तालकटोरा स्टेडियम में आयोजित एक कार्यक्रम में हर्षिता का परिचय कराते हुए बताया था कि उनकी बेटी अब नौकरी करने लगी है और वह भी अब पार्टी को चंदा देगी। 

गौरतलब है कि इससे पहले भी मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल धमकी भरे ई-मेल मिल चुके हैं। इतना ही नहीं, उन पर कई बार हमला भी हो चुका है। अभी कुछ माह पूर्व ही सचिवालय में एक शख्स ने उनका पैर छूने के बहाने उनकी आंख में मिर्ची पाउडर डालने का प्रयास किया था। उससे पहले उन पर स्याही फेंकी जा चुकी है। फिलहाल जांच कर रही टीम ई-मेल भेजने वाले का पता नहीं लगा पाई है, लेकिन छानबीन जारी है। 

 

More From national

Loading...
Trending Now