संजीवनी टुडे

दिल्ली कांग्रेस का सीएम अवास तक न्याय मार्च, कर्मचारियों को बकाया वेतन दिलाने की मांग

संजीवनी टुडे 07-08-2020 21:14:49

कांग्रेस की दिल्ली इकाई ने शुक्रवार को नगर निगम और प्रदेश सरकार के कर्मचारियों के बकाया वेतन को तुरंत प्रभाव से दिलाने


नई दिल्ली। कांग्रेस की दिल्ली इकाई ने शुक्रवार को नगर निगम और प्रदेश सरकार के कर्मचारियों के बकाया वेतन को तुरंत प्रभाव से दिलाने और कोरोना महामारी में कार्यरत कर्मचारियों को कोरोना योद्धा सम्मान दिलाने को लेकर सिविल लाइंस स्थित मुख्यमंत्री निवास तर 'न्याय मार्च' निकाला। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ. अनिल कुमार के नेतृत्व में बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जोरदार प्रदर्शन किया और कर्मचारियों की मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा गया।

कांग्रेस कार्यकर्ता मुख्यमंत्री निवास पर जाने से पहले चंदगीराम अखाड़े पर एकत्रित हुए। इसके बाद मुख्यमंत्री निवास की तरफ कूच किया। न्याय मार्च में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अनिल कुमार के साथ अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव और दिल्ली प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल भी थे।गोहिल ने कहा कि कोरोना योद्धा जैसे स्वच्छता कर्मचारी, डॉक्टर, नर्स, सिविल डिफेंस तथा अन्य सभी कर्मचारी दिल्ली सरकार और दिल्ली नगर निगम के आंख, कान व अन्य अंग हैं। इनके द्वारा ही सरकारी व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने और कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई में सफलता मिल सकती। ऐसे में कर्मचारियों को वेतन और अन्य भत्ते देकर उन्हें प्रोत्साहित करना चाहिए। 

अनिल कुमार ने कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण भय और संकट झेलने का बावजूद प्रदेश सरकार एवं दिल्ली नगर निगम के कर्मचारी अपनी जिम्मेदारियों का निर्वाह कर रहे हैं। कुमार ने मांग की कि दिल्ली सरकार और दिल्ली नगर निगम के अन्तर्गत काम करने वाले सफाई कर्मचारियों, माली, गार्ड, डीबीसी चैकर, शिक्षक, नर्स, सिविल डिफेंस, मार्शल आदि का रुका हुआ वेतन तुरंत दिलवाया जाए। दिल्ली सरकार के अनुदान से चलने वाले 12 कॉलेजों के अध्यापक एवं चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों को भी तुरंत प्रभाव से बकाया वेतन दिया जाये। उन्होंने कहा अन्य कोरोना योद्धाओं की भांति कोविड-19 के तहत ड्यूटी कर रहे निगम कर्मचारियों को भी कोरोना योद्धाओं का सम्मान दिया जाना चाहिए। निगम के मृतक कर्मचारियों के आश्रितों को एक-एक करोड़ रुपये का मुआवजा दिया जाना चाहिए। परिवार के एक व्यक्ति को अनुकम्पा के आधार पर नौकरी भी दी जानी चाहिए। 

उन्होंने मांग की कि सरकार और दिल्ली नगर निगम में लगभग 20 साल से दैनिक भत्ते पर काम करने वाले सफाई कर्मचारियों, अस्थायी रूप में काम करने वाले होम गार्ड, माली, सिविल डिफेंस, मार्शल आदि को नियमित किया जाए। ठेके पर काम करने वाले कर्मचारियों को ठेकेदारी प्रथा समाप्त करके उन्हें स्थाई कर्मचारी के रूप में नियुक्त किया जाए। दिल्ली नगर निगम के सेवानिवृत कर्मचारियों को मिलने वाली राशि को तुरंत दिया जाए। कोरोना यौद्धाओं की भांति मिलने वाले एमरजेन्सी भत्ते की तरह निगमों के सफाई एवं अन्य कर्मचारियों को भी भत्ता दिया जाए। सभी कर्मचारियों को मेडिकल सुविधाओं के साथ कैशलेस कार्ड की सुविधा भी मिलनी चाहिए। 

 

यह खबर भी पढ़े: त्रिपुरा में कोरोना के 128 नए मरीजों की शिनाख्त, कुल संख्या हुई 5868

यह खबर भी पढ़े: पत्नी अंकिता के साथ चैन की नींद लेते नजर आए मिलिंद सोमन, सोशल मीडिया पर चर्चा में ये तस्वीर

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended