संजीवनी टुडे

चीन की करतूत और भारतीय सेना को लेकर संसद में बोले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, राहुल गांधी ने पलटवार कर उठाये सवाल

संजीवनी टुडे 16-09-2020 09:09:48

संसद में रक्षा मंत्री ने कहा है कि अभी की स्थिति के अनुसार चीन ने वास्तविक नियंत्रण रेखा यानी एलएसी और अंदरूनी क्षेत्रों में बड़ी संख्या में सैनिक टुकड़ियां और गोलाबारूद तैनात किया हुआ है।


नई दिल्ली। मानसून सत्र के दूसरे दिन रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लोकसभा में भारत और चीन के बीच जारी गतिरोध पर बयान दिया। उन्होंने लद्दाख की पूर्वी सीमाओं पर हाल में हुई गतिविधियों से अवगत करवाया और इस दौरान भारतीय सैनिकों द्वारा दिए गए बलिदान के बारे में बात की। कांग्रेस ने रक्षा मंत्री के भाषण पर प्रतिक्रिया करते हुए कुछ सवाल किए हैं। 

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक ट्वीट कर पूछा - "रक्षामंत्री के बयान से साफ़ है कि मोदी जी ने देश को चीनी अतिक्रमण पर गुमराह किया। हमारा देश हमेशा से भारतीय सेना के साथ खड़ा था, है और रहेगा। लेकिन मोदी जी,आप कब चीन के ख़िलाफ़ खड़े होंगे? चीन से हमारे देश की ज़मीन कब वापस लेंगे? चीन का नाम लेने से डरो मत।"

दरअसल, मंगलवार को संसद में रक्षा मंत्री ने कहा है कि अभी की स्थिति के अनुसार चीन ने वास्तविक नियंत्रण रेखा यानी एलएसी और अंदरूनी क्षेत्रों में बड़ी संख्या में सैनिक टुकड़ियां और गोलाबारूद तैनात किया हुआ है। रक्षा मंत्री ने भारत-चीन गतिरोध को लेकर संसद में बयान देते हुए कहा,"पूर्वी लद्दाख और गोगरा, कोंगका ला और पैंगोग लेक का उत्तरी और दक्षिणी किनारे पर कई गतिरोध वाले इलाक़े हैं। एलएसी में चीन ने अंदरूनी इलाक़ों में बड़ी संख्या में सेना और हथियार तैनात किया हुआ है। हमारी सेना इस चुनौती का सफलतापूर्वक सामना करेंगी।"

रक्षा मंत्री ने कहा, "एलएसी पर तनाव बढ़ता देख दोनों तरफ के सैन्य कमांडरों ने 6 जून 2020 को मीटिंग की। इस बात पर सहमति बनी कि जवाबी कार्रवाई के द्वारा डिसइन्गेजमेंट किया जाए। दोनों पक्ष इस बात पर भी सहमत हुए कि एलएसी को स्वीकार किया जाए जाएगा तथा कोई ऐसी कार्रवाई नहीं की जाएगी, जिससे यथास्थिति बदले।"

There will be a closeddoor conversation with the opposition leaders regarding LAC Modi government gave hints

उन्होंने कहा कि "इस सहमति का उल्लंघन कर चीन द्वारा एक हिंसक संघर्ष की स्थिति 15 जून को गलवान में पैदा की गई। हमारे बहादुर सिपाहियों ने अपनी जान का बलिदान दिया पर साथ ही चीनी पक्ष को भी भारी क्षति पहुचाई और अपनी सीमा की सुरक्षा में कामयाब रहे।"

यह खबर भी पढ़े: पाकिस्तान को UN में भारत ने लगाई लताड़, मानवाधिकार पर भाषण को लेकर कह डाली ऐसी बात

यह खबर भी पढ़े: LAC को लेकर विपक्षी नेताओं के साथ बंद कमरे में होगी बातचीत ! मोदी सरकार ने दिए संकेत

 

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended