संजीवनी टुडे

चक्रवात ‘वायु’ अधिक तीव्रता से टकराएगा, केन्द्र और राज्य सरकार सतर्क

संजीवनी टुडे 13-06-2019 02:45:00

अरब सागर में उठा चक्रवाती तूफान वायु बुधवार को गर्म समुंद्र और आस-पास के क्षेत्रों में फैली नमी के चलते अधिक ताकतवर हो गया है।


नई दिल्ली। अरब सागर में उठा चक्रवाती तूफान ‘वायु’ बुधवार को गर्म समुंद्र और आस-पास के क्षेत्रों में फैली नमी के चलते अधिक ताकतवर हो गया है। यह गुजरात के तटों से गुरुवार दोपहर को करीब 180 किलोमीटर प्रतिघंटा की गति से टकराने जा रहा है। तूफान की भयावहता को देखते हुए केन्द्र एवं राज्य दोनों सरकारें पूरी तरह से सतर्क हैं और हताहतों की संख्या को शून्य रखने की नीति के साथ बड़े स्तर पर अभियान चला रही हैं। पहले वायु तूफान वेरावल और दीव के बीच टकराने वाला था लेकिन अब वायु ने अपनी दिशा बदल दी है और वह पोरबंदर और दीव के बीच टकराएगा। चक्रवाती तूफान वायु के चलते बुधवार को मुंबई में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हुई, जिसके सामान्य जीवन प्रभावित हुआ। केंद्रीय गृह सचिव राजीव गौबा ने चक्रवात ‘वायु’ से उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए संबंधित राज्य और केंद्रीय मंत्रालयों एवं एजेंसियों की तैयारियों की समीक्षा करने के लिए आज यहां एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की। इस बैठक में गुजरात के मुख्य सचिव और दीव के सलाहकार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े थे और उन्होंने चक्रवाती तूफान से निपटने के लिए तैयार किए गए उपायों के बारे में उन्हें अवगत कराया।

गुजरात में पहले से ही निचले इलाकों से लगभग 1.2 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है और आज देर शाम तक तीन लाख लोगों की निकासी पूरी हो जाएगी। इसी तरह दीव ने आठ हजार लोगों को निकाला है और देर शाम तक दस हजार से अधिक लोगों की निकासी पूरी हो जाएगी। दूरसंचार विभाग ने दूरसंचार सेवा प्रदाताओं को बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के इंटर-सर्कल रोमिंग की अनुमति देने के आदेश जारी किए हैं। एनडीआरएफ ने नौकाओं, पेड़ काटने वालों, दूरसंचार उपकरणों आदि से सुसज्जित 52 टीमों को पूर्व-तैनात किया है। भारतीय तटरक्षक बल, नौसेना, सेना और वायु सेना की इकाइयों को भी स्टैंडबाय पर रखा गया है और निगरानी विमान और हेलीकॉप्टर हवाई निगरानी कर रहे हैं। राज्य और केंद्रीय एजेंसियों की तैयारियों की समीक्षा करते हुए केंद्रीय गृह सचिव ने संबंधित अधिकारियों को सभी एहतियाती उपाय करने का निर्देश दिये। उन्होंने राहत शिविरों में आवश्यक भोजन, पेयजल और दवाइयां उपलब्ध कराने और बिजली, दूरसंचार, स्वास्थ्य इत्यादि जैसी सभी आवश्यक सेवाओं के रखरखाव को सुनिश्चित करने के लिए व्यवस्था की समीक्षा की और उन्हें नुकसान होने की स्थिति में तुरंत बहाली के उपाय करने को कहा।

चक्रवाती तूफान के चलते एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने पोरबंदर, दीव, भावनगर, केशोड और कांडला की हवाई सेवा पूरी तरह से निरस्त कर दी है। इसके अलावा करीब 40 यात्री ट्रेनों को रद्द किया गया है और 28 की यात्रा दूरी को घटाया गया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि केंद्र सरकार ‘वायु’ स्थिति को लेकर लगातार निगरानी पर है। वह राज्य सरकार और स्थानीय प्रशासन के साथ सीधे संपर्क में हैं। एनडीआरएफ और अन्य एजेंसियों 24 घंटे लोगों की सहायता के लिए काम कर रही है। चक्रवात वायु से निपटने के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल(एनडीआरएफ) की 40, एसडीआरएफ की 11, एसआरपी की 13 और सेना की 11 और बीएसएफ की दो इकाइयों को तैनात किया गया है। इसके अलावा 300 मरीन कमांडो भी गुजरात में तैनात हैं। साथ ही सेना की 13 टीमें आ गई हैं और छह हेलीकॉप्टरों को बचाव के लिए सरकार ने स्टैंडबाय मोड पर रखा है। 

सरकार के आदेशों के बाद एनडीआरएफ ने समुद्र तट के निकट रह रहे सभी लोगों को हटाने का काम शुरु कर दिया है। भावनगर में सबसे अधिक 22,531, अमरेली में 20,806, सोमनाथ में 11,000 और कच्छ में 9,300 लोगों को अस्थाई आवासों में भेजा गया है। सौराष्ट्र में 408 गांव वायु तूफान से प्रभावित होंगे। वायु तूफान का प्रभाव 14 तारीख के बाद अगले 48 घंटे तक बना रहेगा। इसी बीच राज्य के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने आपदा प्रबंधन के अधिकारियों के साथ बैठक की और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से प्रभावित जिलों के कलेक्टरों से बात की। इसके बाद पत्रकार वार्ता में मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने लोगों से बचाव कार्यों में सहयोग करने को कहा। उन्होंने लोगों से अपील की है कि वे अपने लिए घरबार छोड़ सुरक्षित स्थानों पर पहुंचे। सरकार द्वारा आपदा की स्थिति को संभालने के लिए पांच लाख फूड पैकेट्स तैयार करने के लिए राज्य के आपूर्ति विभाग को निर्देश दिए हैं। फूड पैकेट्स में पानी के पाउच के साथ सूखा नाश्ता रखने को कहा गया है। सरकार ने इस आपदा की परिस्थिति में बीएसएनएल और एनी मोबाइल ऑपरेटर्स को खास निर्देश दिए हैं कि इस आपदा की स्थिति में भी मोबाइल टावर कार्य करते रहें।

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट  9314166166

More From national

Trending Now
Recommended